19 April, 2018

पीएम आवास पाने के लिए उमड़ पड़ा जनसैलाब, व्यवस्था संभालने पहुंची पुलिस

कानपुर । प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रथम चरण में कानपुर विकास प्राधिकरण ने 10 फ्लैट बनाने का लक्ष्य रखा है। आवासीय योजना के लिए फार्म वितरण केडीए ने शुरू कर दिया है। जनता में प्रधानमंत्री आवास पाने के लिए उत्सुकता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शुक्रवार को केडीए परिसर के बाहर सुबह से ही 20 हजार लोगों की भीड़ कतार में खड़ी है।
देश के हर गरीब व कम पूंजी वाले व्यक्ति की सबसे बड़ी इच्छा होती है कि उसके सिर के नीचे एक अपनी छत (मकान) हो। इस सपने (दर्द) को समझते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर गरीब के इस सपने को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत की है। योजना के तहत वन बीएचके फ्लैट सिर्फ दो लाख रूपये में उपलब्ध कराये जाएंगे। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 32 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बनने वाले फ्लैट के आवेदन फार्म वितरण की शुरूआत केडीए द्वारा कर दी गई। पहले दिन के बाद शुक्रवार को फार्म लेने वालों की जिले में होड़ मच गई। ‘एक सुंदर व सस्ता घर हो अपना‘ की आस लिये हजारों की भीड़ सुबह से ही केडीए कार्यालय परिसर में बने बैंक पहुंचने लगी। देखते ही देखते लोगों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई और करीब 20 हजार से अधिक लोगों जमा हो गये।
फार्म वितरण व भीड़ के चलते अव्यवस्था ने फैले इसको देखते हुए पुलिस बल पहुंच गया और लोगों को लाइनें लगाकर व्यवस्था कराई गई। कमोबेश यह हाल शहर ने उन बैंकों में भी देखा जा रही है, जहां पर पीएम आवास के फार्म वितरित किये जा रहे हैं। केडीए गेट के बाहर आधा किमी से ज्यादा लम्बी लाइन में अपने घर के लिए खड़े लोगों का कहना है कि अपनी छत अपनी ही होती है।
ढाई लाख की मिलेगी सब्सिडी
प्रधानमंत्री आवास योजना में केडीए को दस हजार फ्लैट बनाने का लक्ष्य मिला गया है। एक फ्लैट की कीमत साढ़े चार लाख रुपए रखी गई है जिसमें डेढ़ लाख रुपए केन्द्र सरकार और एक लाख रुपए प्रदेश सरकार सब्सिडी दे रही है। फ्लैट लेने वाले को सिर्फ दो लाख रुपए देने होंगे।
फ्लैट के लिए केडीए ने कराया था सर्वे
पीएम आवास के तहत मिलने वाले फ्लैट को लेकर केडीए को शंका थी कि 30 वर्ग मीटर में बनने वाले वन बीएचके फ्लैट के लिए कोई दो लाख रुपए देगा भी। इसके लिए डिमांड सर्वे का निर्णय लिया गया। केडीए ने फ्लैट के फ्री फार्म बांटने की व्यवस्था की। इस फार्म के जरिए केडीए को पता लगाना था कि कितने लोग फ्लैट लेना चाहते हैं। सर्वे कराने वाले केडीए अफसरों के उस वक्त होश फाख्ता हो गये जब सुबह-सुबह 20 हजार से ज्यादा लोग फार्म लेने पहुंच गए।
चार जगहों पर बनेंगे फ्लैट
सर्वे के साथ ही केडीए यह भी पता लगाना चाहता था कि लोग कहां फ्लैट चाहते हैं। केडीए के पास वर्तमान में पीएम आवास बनाने के लिए चार लोकेशन हैं, जहां निर्माण होना है। ऐसे में पहले कहां पर निर्माण कराया जाए इस समस्या को केडीए के अधिकारियों ने बैठक कर हल निकालते हुए निर्णय लिया कि जिस जगह के लिए लोग ज्यादा फार्म भरेंगे, वहां पहले निर्माण शुरू कराया जाएगा। भीड़ को देखते हुए अब केडीए अफसर अपना 10 हजार फ्लैट बनाने का लक्ष्य बढ़ाने पर विचार करने लगे हैं।

jaydeep@ds.in

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT