11 December, 2018

भव्य श्रृंगार के बीच धूमधाम से मनी भैरव अष्टमी, कटा केक

एनडीएस ब्यूरो
वाराणसी। काशी में शुक्रवार को भैरव अष्टमी धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर कहीं अन्नकूट की झांकी सजी तो कहीं भव्य श्रृगार के बीच बाबा के समक्ष छप्पन भोग अॢपत कर विशेष पूजा और अनुष्ठान का आयोजन किया गया। बाबा काल भैरव का पंचामृत स्नान करने के बाद 601 किलो का केक काटा गया और भंडारा का आयोजन किया गया। बटुक भैरव मंदिर में रुद्राक्ष से श्रृंगार किया गया। कालभैरव मंदिर में ब्रह्म मुहुर्त में बाबा का पंचामृत स्नान कराया गया।
बाबा काल भैरव मंदिर में विधि विधान से श्रृंगार किया गया। पूजन के बाद मलाइयों और पूड़ी-हलवा का प्रसाद बांटा गया। वह बाद में चूड़ा-मटर बांटा गया। शाम के समय भजन संया का आयोजन किया गया। जहां लोगों ने भजन कीर्तन का आनन्द लिया। दोपहर 12 बजे 1008 बटुकों द्वारा भोजन करने के बाद श्रद्घालुओं के लिये अखंड भंडारे का आयोजन किया गया, जो देर रात तक चलता रहा, जहां हजारों श्रद्घालुओं ने प्रसाद ग्रöा किया। रात्रि 8 बजे 1008 बत्तियों की महाआरती के बाद पंचमकार (मीट, मछली, पूड़ी, बढ़ा और मदिरा) का भोग अॢपत किया गया।
कमच्छा स्थित प्राचीन श्री बटुक भैरव मन्दिर में प्रतिवर्ष की भाँति इस वर्ष भी शुक्रवार को भैरव अष्टमी के अवसर पर कमच्छा स्थित बाबा बटुक भैरव जी का भव्य रुद्राक्ष श्रृंगार का आयोजित हुआ। इस अवसर पर दिव्य झाँकी का नयनाभिराम दर्शन हजारों श्रद्घालुओं ने किया। प्रात: 5.00 बजे बाबा का रुद्राभिषेक के बाद मंगला आरती महंत भास्कर पुरी के देख रेख में 11 बटुकों द्वारा सम्पन्न हुआ। इसी के साथ दर्शनाॢथयों द्वारा बाबा के दर्शन का क्रम शुरू  हो गया। मंगला आरती के बाद सुबह 10 बजे बाबा को विशेष स्नान कराने के बाद भव्य श्रृंगार किया गया। दोपहर 12 बजे 1008 बटुकों द्वारा भोजन करने के बाद श्रद्घालुओं के लिये अखंड भंडारे का आयोजन किया गया, जो देर रात तक चलेगा। गोङ्क्षवदेश्वर महादेव समिति की ओर से कोडमदेश्वर भैरव का श्रृंगार और पूजन किया गया। कार्यक्रम का समापन भव्य आरती के साथ किया गया। वह बड़ी शीतला धाम मंदिर स्थित बड़ी शीतला मंदिर में भी आदि काल भैरव नाथ केदार खंड में बाबा का श्रृंगार किया गया। इस दौरान बाबा का अभिषेक अर्चन आदि की गई। बाबा लाटभैरव की भव्य अन्नकूट की झांकी सुबह सजाई गई। बाबा के समक्ष छप्पन भोग अॢपत कर विशेष पूजा और अनुष्ठान का आयोजन किया गया। लाटभैरव समिति के अयक्ष पण्डित हरिहर पाण्डेय के आचार्यत्व में हवन पूजन का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस मौके पर बाबा का दर्शन पूजन करने के लिए श्रद्घालुओं की भारी भीड़ मन्दिर परिसर में उमड़ी रही। श्री लाटभैरव काशी यात्रा मण्डल के तत्वााान में महाभैरवाष्टमी के पावन अवसर पर लाटभैरव मन्दिर से अष्टभैरव यात्रा निकाला गया। यात्रा में सैकडों की संख्या में शामिल भक्तगण हाथ में त्रिशूल डमरू  लिए ओउम् नम: शिवाय का जाप करते हुए लाटभैरव जी का विधि विधान से पूजन अर्चन करने के साथ उन्मत्त भैरव, असितांग भैरव, संहार भैरव, भीषण भैरव, क्रो भैरव, चंड भैरव का दर्शन करते हुए हनुमान घाट स्थित भैरव जी का दर्शन कर यात्रा का समापन किया। यात्रा का संयोजन केवल कुशवाहा, धर्मेन्द्र शाह, जयप्रकाश राय, दिनेश बाबा, प्रवीण कुशवाहा, शिवम अग्रहरि आदि ने किया।

 

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT