21 October, 2018

विपक्ष का मोदी पर हमला कहा, नोटबंदी के फैसले को वापस ले सरकार

नई दिल्ली।  संसद का शीतकालीन सत्र चल रहा है लेकिन संसद में कामकाज ठप पड़ा है। वजह नोटबंदी के फैसले पर विपक्ष का विरोध। संसद के सत्र में सांसद हिस्सा लेने तो पहुंचते हैं लेकिन पिछले सात दिनों से संसद में सिवाय हंगामे के और कुछ नहीं हुआ है। विपक्ष की मांग है कि पीएम मोदी संसद में आकर नोटबंदी के मुद्दे पर बात करें तो वहीं नोटबंदी के फैसले पर पक्ष और विपक्ष में रार बरकरार है। विपक्ष का कहना है कि नोटबंदी के फैसले को सरकार वापस ले। सरकार है कि इस फैसले पर एक इंच भी पीछे हटने को राजी नहीं है।

सीपीआईएम नेता और राज्यसभा सांसद सीताराम येचुरी ने कहा है कि जब पीएम मोदी ने खुद कहा है कि वो नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं तो फिर वो संसद में आकर चर्चा क्यों नहीं कर रहे हैं? अगर संसद में कामकाज ठप पड़ा है तो इसकी वजह भी पीएम मोदी ही हैं उन्होंने अपने अहंकार के चलते संसद का काम रोक रखा है। येचुरी ने पीएम मोदी पर जबरदस्त हमला करते हुए कहा कि जब वो नोटबंदी के मुद्दे पर संसद के बाहर बोल सकते हैं तो संसद में क्यों नहीं ये संसद का अपमान नहीं तो क्या है? कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद ने भी पीएम मोदी को घेरते हुए कहा कि जब देश के प्रधानमंत्री को ही संसद की गरिमा का खयाल नहीं है तो दूसरे सदस्यों से क्या आस लगाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने इतना बड़ा निर्णय लिया जिसके बाद पीएम को संसद में आना ही चाहिए था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी आज प्रधानमंत्री पर हमला किया और कहा कि पीएम ने विदेशों से कालाधन लाने के लिए कहा था जो स्विटजरलैंड में जमा है, जबकि उन्होंने तो आम आदमी की जेब से ही पैसा निकाल लिया है। उन्होंने कहा कि इसका भुगतान करना होगा और अगले चुनावों में जनता उनको जवाब भी देगी।

संसद की कार्रवाई बार-बार स्थगित होने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा है कि उनकी कोशिश रहती है कि प्रश्नकाल में काम हो और उनकी इच्छा है कि सदन चले। अभी तक विपक्ष का हंगामा इतना जबरद्स्त रहा तो इस मामले पर पक्ष भी चर्चा के लिए तैयार है। इस मामले पर वित्त राज्यमंत्री और लोकसभा सांसद अर्जुन मेघवाल का कहना है कि इस बात का निर्णय स्पीकर करेगा कि कौन से नियम के तहत सदन में चर्चा कराई जाएगी और सरकार स्पीकर के फैसले को मानने के लिए तैयार है। इस मामले पर अब सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने गेंद विपक्ष के पाले में फेंकते हुए कहा है कि जब सरकार हर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार है तो विपक्ष बेवजह हंगामा कर रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्ष चर्चा क्यों नहीं करना चाहता है वो इस बात का जवाब दे। आज के इस दौर में लोगों ने पीएम को निशाने पर लेने का फैशन बना लिया है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.