17 August, 2018

5वीं एवं 8वीं कक्षा के छात्रों को पास करने की नीति के खिलाफ 23 राज्य

23 states, against policy of passing students, 5th class ,8th class , grade
  • 15 राज्यों ने संशोधन का सुझाव दिया
  • आठ राज्य नीति को पूरी तरह वापस लेने के पक्ष में
  • पांच राज्य फेल नहीं करने की नीति बनाये रखना चाहते हैं 

नई दिल्ली। देश के 23 राज्यों ने स्कूलों में पांचवी एवं आठवीं कक्षा में छात्रों को फेल नहीं करने की नीति में संशोधन करने का समर्थन किया है। इनमें से आठ राज्यों ने इस नीति को पूरी तरह वापस लेने के पक्ष में राय जाहिर की है। स्कूलों में फेल नहीं करने की नीति के विषय पर विचार करने के लिए 26 अक्टूबर 2015 को राजस्थान के शिक्षा मंत्री के नेतृत्व में एक उप समिति का गठन किया गया था। इस समिति ने छह से 14 वर्ष की उम्र के बच्चों को निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार कानून के तहत इस नीति से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर विचार किया था।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि 15 एवं 16 जनवरी को राष्ट्रीय शिक्षा सलाहकार बोर्ड (केब) की बैठक में इस बारे में उप समिति की स्थिति रिपोर्ट पर विचार किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, पांच राज्यों आंध प्रदेश, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और तेलंगाना ने आरटीई अधिनियम 2009 के तहत फेल नहीं करने की नीति को बनाये रखने की बात कही थी । बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, केरल, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और अरुणाचल प्रदेश ने फेल नहीं करने की नीति को वापस लिये जाने पर जोर दिया है।

हिमाचल प्रदेश, मिजोरम, सिक्किम, पुडुचेरी, दिल्ली, ओड़िशा, त्रिपुरा, गुजरात, नगालैंड, मध्य प्रदेश, पंजाब, चंडीगढ़, जम्मू- कश्मीर, छत्तीसगढ़, दमन दीव ने इस नीति में संशोधन करने का सुझाव दिया है। अंडमान निकोबार, असम, दादरा नगर हवेली, झारखंड, लक्षद्वीप, मणिपुर, मेघालय और तमिलनाडु ने इस विषय पर कोई राय नहीं दी। मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, केब की बैठकों में इस विषय पर र्चचा की गई और इसके अनुरूप छह से 14 वर्ष के बच्चों को निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार कानून 2009 के प्रावधानों में संशोधन करने का निर्णय किया गया ताकि पांचवी एवं आठवीं कक्षा में नियमित परीक्षा आयोजित की जा सके। प्रस्तावित संशोधन के अनुसार, अगर कोई बच्चा इस परीक्षा में फेल हो जाता है तब उसे परिणाम घोषित होने के दो महीने के भीतर दोबारा परीक्षा देने का मौका मिलेगा। 

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT