20 April, 2018

65 पत्रकारों की हुई हत्यायें

65 journalists killed, Annual Reports, Reporters Without Bonders, World
  • इस साल अब तक 65 पत्रकार और मीडियाकर्मी मारे गए
  • तुर्की में जर्मनी की पत्रकार रिहा

पेरिस। रिपोर्टर्स विदाउट बॉडर्स की ओर से प्रकाशित सालाना आंकड़े के मुताबिक साल 2017 में दुनियाभर में 65 पत्रकार और मीडियाकर्मी मारे गए हैं। रिपोर्टर्स विदाउट बॉडर्स को रिपोर्टर्स सैन्स फ्रंटियर्स (आरएसएफ) भी कहा जाता है।मारे गए मीडिया कर्मियों में 50 पेशेवर संवाददाता थे। पिछले 14 वर्षो में यह संख्या सबसे कम है। हालांकि इस संख्या के कम होने के पीछे की वजह दुनिया के खतरनाक माने जाने वाले स्थानों पर पत्रकारों की गतिविधियों में आयी कमी भी हो सकती है।

आरएसएफ ने बताया, युद्धग्रस्त सीरिया दुनियाभर में पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक स्थान बना हुआ है और यहां 12 संवाददाता मारे गए हैं। इसके बाद मैक्सिको है। यहां 11 पत्रकारों की हत्या हुई है। मैक्सिको में मारे गये पत्रकारों में जेवियर वाल्डेज का भी नाम है। वह मेक्सिको में मादक पदार्थ माफियाओं के बीच चल रहे खतरनाक लड़ाई की कहानी दुनिया को बता रहे थे। मई में हुई उनकी हत्या से लोगों में काफी गुस्सा था।वहीं एशिया में संवाददाताओं के लिए फिलीपीन सबसे खतरनाक स्थान साबित हुआ है। पिछले साल यहां पांच पत्रकारों को गोली मारी गई, जिनमें से चार की मौत हो गई।

आरएसएफ ने बताया, दुनियाभर में इस साल मारे गये पत्रकारों की संख्या पिछले 14 साल में सबसे कम है। आंकड़ों के मुताबिक 65 में से 39 पत्रकारों की हत्या हुई। वहीं अन्य की मौत ड्यूटी के दौरान हवाई हमले या आत्मघाती हमले में हुई। समूह का कहना है कि पत्रकारों की मौत की संख्या में गिरावट के पीछे पत्रकारों को मिला बेहतर प्रशिक्षण और युद्ध क्षेत्र में मिली सुरक्षा शामिल है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT