23 January, 2018

बीजेपी के दलित नेता की हत्या करने वाला हत्यारा गिरफ्तार

  • तीन अन्य हत्यारे पुलिस के चंगुल से दूर

एम.एम.सरोज

लखनऊ। राजधानी में पुलिस की लचारी के चलते अपराधी निडर होकर अपराध को अंजाम दे रहे हैं और राजधानी की हाईटेेक पुलिस मूकदर्शक की तरह बनी हुई है। हत्या, लूट, डकैती, दुराचार जैसे संगीन घटनाएं रूकने का नाम ही नहीं ले रही हैं, जब यह हाल राजधानी का है तो आप सोचिए अन्य जनपदों में पुलिस की कार्यशैली कैसी होगी। फिलहाल काकोरी हत्या काण्ड में उच्चाधिकारियों के सख्त होने पर पुलिस ने देर रात एक हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया जबकि तीन अन्य आरोपी अभी फरार हैं। पुलिस का दावा है कि जल्द ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।
मामला मंगलवार का है जहां काकोरी थाना क्षेत्र में अपराधियों ने बीजेपी के स्थानीय दलित नेता की निर्मम हत्या कर शव को पेड़ पर टांग दिया। पेड़ पर लटकती लाश देखकर पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पाकर कई थानो की फोर्स मौके पर पहुंच कर स्थिति को संभाला। मृतक बिहारीलाल रावत 45 निवासी काकोरी थाना क्षेत्र के कर्जन गांव के है। जो कि यहां अपने परिवार के साथ रहते थे। उनके परिवार में पत्नी विश्वकांती और 17 साल का बेटा आशीष और 14 साल का बेटा शिवम है। बिहारी लाल रावत रोज की तरह बच्चों को पढ़ाने के लिए सुबह घर से निकलते थे। वह शिक्षक के साथ ही बीजेपी के बूथ अध्यक्ष थे। बिहारीलाल रावत के घर से निकलने के बाद उनका बेटा भी ट्यूशन पढऩे के लिए घर से निकला। लेकिन उसने घर से करीब 500 मीटर दूर रास्ते में पिता की साइकिल पड़ी देखी। इसके बाद वह अन्य लोगों को सूचना देने के बाद बाग के अंदर तक गया। जहां पेड़ पर पिता की लाश लटकते देखी। पुलिस के मुताबिक मृतक बिहारीलाल रावत के शरीर पर काफ ी चोट के निशान थे। मृतक की पत्नी विश्वकांती ने पड़ोस के गांव में रहने वाले विशाल यादव के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। उनका आरोप था कि जमीन के विवाद में विशाल यादव ने बिहारी लाल को देख लेने की धमकी दी थी। बीजेपी के बूथ अध्यक्ष बिहारी लाल रावत की निर्मम हत्या की जानकारी के बाद मोहनलालगंज सांसद कौशल किशोर घटना स्थल पर पहुंचे थे और जल्द हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था। वहीं उच्चाधिकारियों के सख्त होने पर पुलिस ने देर रात को हत्या के नामजद हत्याआरोपी बी.ए की पढ़ाई कर रहे विशाल यादव पुत्र स्व. सुमेरी निवासी अजमत नगर काकोरी को दुबग्गा चौराहे से गिरफ्तार कर लिया जबकि विशाल यादव के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देने वाले रोहित यादव पुत्र नरेश व वीरेंद्र यादव पुत्र स्व. रामस्वरूप निवासी ग्वालपुर थाना काकोरी पुलिस की गिरफ्त से दूर है पुलिस का कहना कि जल्द ही अन्य हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT