28 May, 2018

जल्द पूरी हो बुंदेलखण्ड की अधूरी योजनाएं : राजीव कुमार

Bundelkhand, Rajiv Kumar, Uttar Pradesh Chief Secretary Rajiv Kumar

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत सभी पात्र किसानों को बीमा योजना 
  • से लाभान्वित कराने हेतु विशेष अभियान चलाया जाये
  • उपकरण आवश्यकतानुसार उपयोग हेतु आरक्षित रखे जायें
  • राहत आयुक्त को उपलब्ध कराना अनिवार्य

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने निर्देश दिये हैं कि बुन्देलखण्ड में 80 प्रतिशत तक पूर्ण हो चुकी पेयजल परियोजनाओं को अभियान चलाकर आगामी 30 दिसम्बर तक निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराना सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि जनपद चित्रकूट में दो पाइप पेयजल परियोजनाओं बरगढ़ एवं मऊ को भी 31 दिसम्बर, 2017 तक पूर्ण कराया जाये।

उन्होंने यह भी निर्देशित दिये कि सम्बंधित अधिशाषी अभियंताओं को क्रियाशील योजनायें तथा वर्तमान में कितने गांवों में पेयजल उपलब्ध कराने का अभियंतावार प्रमाण-पत्र अनिवार्य रूप से प्राप्त किया जाये। उन्होंने कहा कि खराब हैण्डपम्पों एवं नलकूपों को तत्काल रिबोर कराने हेतु राज्य वित्त आयोग द्वारा ग्राम पंचायतों को आवंटित धनराशि का सर्वप्रथम उपयोग सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने कहा कि मनरेगा के अंतर्गत अधिक से अधिक रोजगार सृजन करने की कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने सम्भावित सूखे से निपटने हेतु विभागवार विस्तृत कार्ययोजना मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित आगामी बैठक के पूर्व में अवश्य रूप से राहत आयुक्त को उपलब्ध कराने के निर्देश दियें। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत सभी पात्र किसानों को बीमा योजना से लाभान्वित कराने हेतु विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिये।

मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में बुन्देलखण्ड में सम्भावित सूखे की स्थिति तथा सम्बंधित विभागों द्वारा की गई तैयारियों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में सम्भावित सूखे की स्थिति से प्रभावी रूप से निपटने हेतु सम्बंधित विभागों को नामित नोडल अधिकारियों के नाम एवं मो0 नं0 आदि की सूचना आज ही राहत आयुक्त कार्यालय को उपलब्ध कराना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड निधि से 90 करोड़ व त्वरित योजना से 25 करोड़ अर्थात कुल उपलब्ध 115 करोड़ रू0 की धनराशि में से ऊर्जा एवं जल निगम को 40-40 करोड़ रूपया, नलकूप/लिफ्ट सिंचाई को 20 करोड़ एवं लघु सिंचाई को 10 करोड़ रूपयेतथा जल संस्थान को 05 करोड़ की धनराशि तत्काल निर्गत कराने के निर्देश दिये हैं।

श्री राजीव कुमार ने यह भी निर्देश दिये हैं कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र के समस्त नलकूपों को 24 घण्टे क्रियाशील रखने हेतु आवश्यकतानुसार कार्ययोजना का क्रियान्वयन समय से सुनिश्चित करा लिया जाये। उन्होंने कहा कि सम्बंधित अधिकारियों को नलकूपों की संख्या के सापेक्ष क्रियाशील नलकूप एवं बंद पड़े नलकूपों की संख्या का विवरण वरिष्ठ अधिकारियों को अवश्य उपलब्ध कराना होगा। उन्होंने कहा कि सम्बंधित अधिकारियों का दायित्व होगा कि वह अपने सम्बंधित अधीनस्थ अधिकारियों से सबसे पुराने नलकूप किस तिथि एवं किन कारणों से बंद होने तथा उसे कब तक क्रियाशील कर दिये जाने का, नलकूपवार एवं जनपदवार विवरण अवश्य प्राप्त कर सक्षम स्तर पर रिव्यू कराया जाये।

मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिये हैं कि बुन्देलखण्ड में खराब ट्रांस्फार्मरों को 24 घण्टे के अंदर बदलवाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु निर्बाध विद्युत आपूर्ति हेतु सचल ट्रांस्फार्मर की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि जर्जर तार, विद्युत पोल एवं ट्रांसफार्मर को आवश्यकतानुसार बदले जाने हेतु विस्तृत कार्ययोजना का क्रियान्वयन समय से सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये हैं कि सूखा प्रभावित बुंदेलखण्ड, विंध्याचल मण्डल, आगरा मण्डल के कुछ जनपदों एवं इलाहाबाद जनपद के यमुनापार क्षेत्र हेतु 20 प्रतिशत विद्युत विभाग के आवश्यक उपकरण आरक्षित कराकर रखवा लिये जाये।

उन्होंने निजी नलकूपों को तत्काल विद्युत कनेक्शन नियमानुसार दिये जाने, जनपद चित्रकूट में मऊ एवं बरगढ़ पेयजल परियाजनाओं में बिजली के खम्भे जगाये जाने एवं तार बिछाये जाने हेतु वन विभाग से अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्राप्त कर परियोजना संचालित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि खरीफ 2017 में किसानों को हुये नुकसान की साप्ताहिक समीक्षा कर बीमा कम्पनियों से यथाशीघ्र किसानों को भुगतान कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि कम पानी में पैदा होने वाली फसलों एवं औद्यानिक फसलों के बीजों की मिनी किट्स की उपलब्धता आवश्यकतानुसार सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि बुन्देलखण्ड के जनपदों मेंपशुओं के टीकाकरण तथा उनके लिये चारे एवं पेयजल की व्यवस्था आवश्यकतानुसार प्रत्येक दशा में सुनिश्चित होनी चाहिए।

राजीव कुमार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से निरन्तर खाद्यान्न की आपूर्ति सुनिश्चित कराते हुये निर्देश दिये कि संभावित सूखे की कार्य योजना में अतिरिक्त फूड सप्लीमेन्ट की व्यवस्था समय से अवश्य सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने कहा कि कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार न होने पावे इसके लिये आगामी 06 माह के लिये प्रभावी कार्य योजना के अनुसार आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करा ली जायें। उन्होंने निर्देश दिये कि अन्त्योदय कार्डधारकों को राशन का नियमित वितरण एवं सत्यापन सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने कहा कि छूटे हुये पात्र लोग विशेषकर निराश्रित एवं बुजुर्ग एवं लोगों को भी मानक के अनुसार खाद्यान्न अवश्य उपलब्ध कराया जाये।

बैठक में अपर मुख्य सचिव, पंचायती राज चंचल कुमार तिवारी, प्रमुख सचिव, राजस्व रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव, कृषि अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख सचिव, सिंचाई सुरेश चन्द्रा, विशेष सचिव, राजस्व संजय कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT