19 April, 2018

प्रदेश के सभी थानों में होगी क्राइम सेल, पुलिस के ऊपर से हटेगा विवेचनाओं का बोझ

एम एम सरोज 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की  कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए संगीन मामलों की विवेचना का स्तर सुधारने के लिए प्रदेश में क्राइम ब्रांच की नए सिरे से पुनगर्ठन की कार्ययोजना तैयारी की जा रही है। अमूमन देखने को मिलता है कि कानून.व्यवस्था ड्यूटी के चलते थानों पर विवेचना का काम पीछे छूट जाता है। इसका सबसे बड़ा प्रमाण छोटे से लेकर बड़े मामलों की लंबित विवेचनाओं की बढ़ती संख्या है।
इस त्रासदी से निपटने के लिए डीजीपी सुलखान सिंह ने क्राइम ब्रांच को और मजबूत बनाने का निर्णय लिया है, ताकि विवेचना की गुणवत्ता को बढ़ाया जा सके। लोगों को जल्द न्याय मिल सके। डीजीपी मुख्यालय स्तर पर हर जिले में क्राइम ब्रांच के नए सिरे से गठन के साथ ही प्रदेश के हर थाने में क्राइम ब्रांच के अंडर में अलग विवेचना सेल गठित किए जाने की योजना है। एडीजी क्राइम चंद्रप्रकाश इस कार्ययोजना का खाका तैयार कर रहे हैं। बताया गया कि हर थाने का 20 फीसद पुलिस बल विवेचना सेल में लगाया जाएगा, जबकि शेष 80 प्रतिशत पुलिस फोर्स कानून.व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालेगी। कई बड़े जिलों में कानून.व्यवस्था के लिहाज से व्यस्त रहने वाले थानों को शुरूआत में इस व्यवस्था से मुक्त रखने पर भी विचार चल रहा है। इसके लिए डीजीपी मुख्यालय स्तर से लेकर हर जिले में क्राइम ब्रांच का और व्यवस्थित व सुदृढ़ करने के लिए अन्य व्यवस्थाओं पर भी विचार चल रहा है। हर थाना स्तर पर बनने वाली विवेचना सेल के लिए अलग कमरे की व्यवस्था होगी। साथ ही क्राइम ब्रांच को वाहन, हथियार व उपकरण भी मुहैया कराए जाएंगे। जिले की क्राइम ब्रांच में सर्विलांस सेल को भी और मजबूत किया जाएगा। ताकि थाना स्तर पर विवेचक को सर्विलांस की हर मदद को क्राइम ब्रांच के स्तर से पूरा कराया जा सके। बताया गया कि डीजीपी ने प्रदेश के कई बड़े व अनसुलझे मामलों की सूची भी बनाई है। ताकि उन मामलों पर नए सिरे से पड़ताल कराई जा सके। साथ ही विवेचनाओं के निस्तारण के लिए थानेदार व स्थानीय पुलिस अधिकारियों की जवाबदेही भी रहेगी। एडीजी क्राइम स्तर से इस पूरी प्रकिया की मानीटरिंग की जाएगी। वर्तमान में लखनऊ सहित 16 बड़े जिलों में एएसपी क्राइम की तैनाती है, जो जिला स्तर की क्राइम ब्रांच को लीड करते हैं, जबकि शेष जिलों में सीओ स्तर के अधिकारी क्राइम ब्रांच के नोडल अधिकारी हैं। एडीजी क्राइम चंद्रप्रकाश के मुताबिक नई व्यवस्था के तहत सभी जिलों में एएसपी क्राइम को तैनात किए जाने की योजना है।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT