23 October, 2018

ललितपुर। भारतीय जनता पार्टी की नगर इकाई के तत्वाधान में नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयन्ती धूमधाम से सांसद कार्यालय पर मनायी गयी। क्षेत्रीय अध्यक्ष रामरतन कुशवाहा ने कहा कि नेताजी की मृत्यु का रहस्य आज भी रहस्य ही बना हुआ है। पिछली सरकारों ने इस

READ MORE

ललितपुर। ग्राम पंचायत मड़ावरा के पूर्व प्रधान पर जॉब कार्ड से रुपया निकालकर धोखाधड़ी किये जाने का एक मामला प्रकाश में आया है। पीडि़त व्यक्ति ने उप जिलाधिकारी मड़ावरा एस.के.पाल को शिकायती पत्र सौंपते हुये पूर्व प्रधान के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग की

READ MORE

ललितपुर। प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी मध्याह्न भोजन योजना को संचालित करने में महत्वपूर्ण योगदान देने वालीं रसोईया को मानदेय काफी कम दिया जा रहा है। रसोईया महिलाओं ने आज लामबंद होकर जिलाधिकारी के माध्यम से एक ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजते हुये मानदेय कम से कम

READ MORE

ललितपुर। गुजरे एक वर्ष से निरन्तर परिवारों के बीच किसी न किसी बात को लेकर उपजे मतभेदों को दूर कर फिर से एक कराने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे परिवार परामर्श केन्द्र का पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह ने औपचारिक निरीक्षण किया। इस दौरान

READ MORE

ललितपुर। आगामी 27 जनवरी से 3 फरवरी तक मनाये जा रहे मातृत्व सप्ताह को लेकर उत्तर प्रदेश शासन के मुख्य सचिव के निर्देश पर मीडिया वर्कशॉप का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार की अध्यक्षता में किया गया। इस दौरान सप्ताह में होने वाले

READ MORE

महरौनी (ललितपुर)। वन विभाग की महरौनी अन्तर्गत छपरट से दक्षिण में स्थित ग्राम दिगवार रेंज को बेहद अव्यवस्थाओं का शिकार होना पड़ रहा है। दिगवार रेंज अन्तर्गत नर्सरी में मनरेगा के तहत कराया जा रहा प्रत्यारोपण व क्यारी एवं पौधरोपण का कार्य चल रहा है

READ MORE

हम दलित साहित्यकारों को पुरस्कार मिलता ही नहीं है, वर्ना वापस करके हम भी विरोध जताते और चर्चित होते। उच्च जाति या सत्ता में पहुंच की वजह से सम्मान और अकादमियों में पद पाते हैं।  विश्वविद्यालयों में दलित साहित्यकारों को मानद उपाधि लायक नहीं समझा

READ MORE

प्रभाष श्रीवास्तव लखनऊ। खाकी से खादी ओढऩे वाले आईपीएस अफसरों के नाम में पूर्व डीजीपी ए. के. जैन का नाम भी शुमार हो जाएगा। खाकी उतारने के बाद डीजीपी से लेकर कांस्टेबिल तक खादी पहनकर जनसेवा करने का उतावलापन देखते बन रहे है। दिल्ली में देश

READ MORE

पहले दृष्टिïकोण के बजाए खबरों का महत्व दिया था, लेकिन आज दृष्टिïकोण के हिसाब से खबरों को महत्व दिया जाता है। शायद पत्रकारिता के काले अध्याय की शुरुआत, इसे माना जा सकता है। पत्रकारों की पूंजी खबरें होती है एक पत्रकार का कैरिअर जितना विश्वसनीय

READ MORE

लखनऊ (एनडीएस)। 'जब जहाज डूबने वाला होता है तब सबसे पहले चूहे भागते हैंÓ यह कहावत उत्तर प्रदेश की नौकरशाही पर सटीक साबित होती है। उत्तर प्रदेश में अगले साल विधान सभा चुनाव हैं, नौकरशाही को एहसास हो चुका है कि अब अखिलेश यादव सरकार

READ MORE