21 January, 2018

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती उत्तर प्रदेश की पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं। जबकि सपा के नवनियुक्ति राष्टï्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अब अपने राजनीतिक कैरियर को सफल बनाने के लिए सात से आठ साल तक संघर्ष करना पड़ेगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र

READ MORE

राजेन्द्र के. गौतम लखनऊ। अब लोगों को समस्याओं का हल कराने के लिए दफ्तरों में नहीं भटकना पड़ेगा। अब एक क्लिक पर ऑन लाइन लोग अपनी समस्या सीएम, डीएम और एसपी तक पहुंचा सकते हैं। पोर्टल पर 24 घंटे में किसी भी समय शिकायत दर्ज होगी

READ MORE

श्रवण शुक्ला लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी ने इस बार उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव के लिए मुस्लिम समाज को अपनी सोशल इंजीनियरिंग का सबसे महत्वपूर्ण टूल्स इसलिए बनाया है। यही वजह है जहां मुस्लिम समाज के कई महत्वपूर्ण नेता और मौलाना व संगठन खुलकर समर्थन

READ MORE

लखनऊ। काला धन पर रोक लगाने के साथ सत्ता में आई मोदी सरकार पर एक आर.टी.आई.में पूछे गए सवालों ने मोदी सरकार पर कई सवालिया निशान खड़े किए हैं। नोटबंदी को लेकर विपक्ष के कठघरे में खड़ी भाजपा सरकार इस खुलासे के बाद और घिर

READ MORE

श्रवण शुक्ला लखनऊ। तकनीक और सोशल मीडिया ने आज हर व्यक्ति को पत्रकारिता के नाम पर 'रेड जर्नलिज्मÓ का हथियार दे दिया है। जिसकी वजह से वेब और सोशल मीडिया के नाम पर जहां अज्ञानी पत्रकारों की भारी भीड़ बढ़ी है वहीं चौथे स्तम्भ यानी पत्रकारिता

READ MORE

दुबई से हेमंत तिवारी की रिपोर्ट लखनऊ। दुबई की सरजमीं पर इस 26 जनवरी को सोलहवीं बार भारतीय तिरंगा लहराया तो माहौल देखने लायक था। लन्दन में रहने वाले हिन्दुस्तानी हर साल रिपब्लिक डे पर इंडिया डे परेड का आयोजन करते हैं, लेकिन दुबई में जिस

READ MORE

अमित भनोट लखनऊ। कृषि विभाग भले पूर्वी उत्तर प्रदेश में हरित क्रांति न कर पाया हो, लेकिन भ्रष्टïाचार करने में नई-नई इबारतें लिख रहा है। प्रदेश के 14 जिलों में बीजीआरईआई योजना के प्रचार-प्रसार के लिए 121.8 लाख रुपए की लागत से फसल साहित्य कागजों पर

READ MORE

एनडीएस ब्यूरो कानपुर। सर्वप्रचलित तथ्य है कि अगर एक छात्र पथभ्रष्टï हो जाए तो मात्र एक परिवार को उसके क्रियाकलापों का खामियाजा भुगतना पड़ता है, लेकिन अगर कोई एक शिक्षक यानी प्रोफेसर यही रास्ता अपना ले, तो पूरा समाज बरबादी के कगार पर खड़ा हो जाता

READ MORE

राजेन्द्र के. गौतम लखनऊ। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग (आरईएस) आकंठ भ्रष्टïाचार के दलदल में समाया हुआ है। यह हम नहीं आरईएस में तैनात भ्रष्टïाचार के आरोपी निदेशक बनाए रखने के लिए मंत्री ने जहां साम, दाम, दण्ड भेद का सहारा लिया वहीं भ्रष्टïाचार के शिकार एक बाबू

READ MORE

नैतिक मूल्यों में गिरावट तो समाज के हर वर्ग में आई है। पत्रकार भी इससे अछूते नहीं रहे हैं। पत्रकारिता में आई गिरावट के लिए पत्रकार स्वंय दोषी हैं। पहले पत्रकारों की कलम में धार होती थी, अब कलम की धार कुंद हो चुकी है। 

READ MORE