24 February, 2019

शिशुपाल सिंह लखनऊ। लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माने जाने वाले मीडिया की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में हैं। खुद को नियम-कानून से ऊपर समझने वाले कुछ तथाकथित पत्रकारों ने अपने काले कारनामों से इस सम्मानित पेशे को बदनाम कर दिया है। यूपी के कुछ दिग्गज पत्रकारों

READ MORE

पंचायती राज विभाग में प्रमुख सचिव और निदेशक का काम बोल रहा है। अनियमितताओं के लिए विशेष पहचान बना चुके प्रमुख सचिव चंचल तिवारी और ईमानदारी और जनता के प्रति हमदर्द होने का ढिंढोरा पीटने वाले निदेशक विजय किरन आनंद ने ग्राम पंचायतों के परफार्मेंस

READ MORE

निकाय चुनाव का बजा बिगुल त्रिनाथ के. शर्मा   लखनऊ। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार निकाय चुनाव का डंका शुक्रवार को बज गया। इसके साथ ही सियासी दलों की धड़कने तेज हो गई है। क्योंकि इस चुनाव को सभी सियासी दल आगामी लोकसभा चुनाव का सेमी फाइनल टेस्ट

READ MORE

प्रभाष श्रीवास्तव लखनऊ। मोदी के अपराजय किले गुजरात में सेंध लगाने के लिए यूपी के राजनीतिक शूरमा ताल ठोंकेंगे। जहां सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुजरात में दो तिहाई बहुमत से भाजपा की सरकार बनवाने का ऐलान किया है वहीं सपा के राष्टï अध्यक्ष अखिलेश यादव ने

READ MORE

राम तेरी गंगा मैली हो गई, पापियों का पाप ढोते-ढोते की तरह नेताओं और अफसरों के भ्रष्टïचार को उजागर करते-करते पत्रकारों के दामन भी मैले हो गए हैं। मीडिया के भ्रष्टïचार ने साबित कर दिया है कि नेता, अफसर और पत्रकार भ्रष्टचार के हमाम में

READ MORE

देहरादून (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर एक बार फिर निशाना साधते हुए कहा कि 2013 की प्राकृतिक आपदा के बाद गुजरात सरकार ने पुनर्निर्माण कार्य की पेशकश की थी, लेकिन तत्कालीन सरकार ने उसे ठुकरा दिया क्योंकि बाबा चाहते थे कि यह काम

READ MORE

त्रिनाथ के. शर्मा लखनऊ। हमको कुछ नहीं पता, कहां और किस आयोजन में कितनी धनराशि अनाप-शनाप और शाह खर्च हुई। यह जवाब अद्र्घन्यायिक संस्था उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत नियामक आयोग (यूपीईआरसी) का है। अपने कारनामों के राज को छिपाए रखने के लिए यूपीईआरसी ने सूचनाएं न

READ MORE

एनडीएस ब्यूरो लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सत्ता पक्ष के ज्यादातर विधायक इस बात से असंतुष्ट हैं कि अफसर उनकी सुन नहीं रहे हैं। अफसरों की कार्यशैली को लेकर समय-समय पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर कई मंत्रियों ने भी टिप्पणी की है। बार-बार दिशानिर्देश के बावजूद

READ MORE

जानी-मानी पत्रकार और प्रतिष्ठिïत अंग्रेजी समाचार पत्र हिन्दुस्तान टाइम्स की सम्पादक सुनीता ऐरन ने सरकार और अपने प्रभाव के बल पर राजधानी और अन्य जिलों में अकूत चल-अचल सम्पत्ति खड़ी की है। नियम-कानूनों की धज्जियां उड़ाते हुए शहर में कई मकान होने के बावजूद सरकारी

READ MORE