25 June, 2018

राजेन्द्र के. गौतम लखनऊ। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग (आरईएस) आकंठ भ्रष्टïाचार के दलदल में समाया हुआ है। यह हम नहीं आरईएस में तैनात भ्रष्टïाचार के आरोपी निदेशक बनाए रखने के लिए मंत्री ने जहां साम, दाम, दण्ड भेद का सहारा लिया वहीं भ्रष्टïाचार के शिकार एक बाबू

READ MORE

नैतिक मूल्यों में गिरावट तो समाज के हर वर्ग में आई है। पत्रकार भी इससे अछूते नहीं रहे हैं। पत्रकारिता में आई गिरावट के लिए पत्रकार स्वंय दोषी हैं। पहले पत्रकारों की कलम में धार होती थी, अब कलम की धार कुंद हो चुकी है। 

READ MORE

श्रवण शुक्ला लखनऊ। किसी अनाम कवि की यह कविता उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राहुल भटनागर पर सटीक साबित होती है।  तमाम अनियमितताएं, तमाम आरोप और तमाम शिकायतों के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं। इसे शुगर लॉबी का दबाव कहें या फिर मलाईदार पद न छोडऩे का

READ MORE

अमित भनोट लखनऊ।  बहुजन समाज पार्टी के लिए प्रतिष्ठïा का विषय बने यूपी विधान सभा चुनाव पर फतेह पाने के लिए अपनी परम्पारिक कार्यशैली में जबरदस्त बदलाव किया है। चुनावी रणनीति के तहत जहां अपनी पुरानी प्रचार शैली को बॉय-बॉय करके जनता को लुभाने के लिए

READ MORE

अमित भनोट लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव की रणभेरी बजते ही जहां एक तरफ  सभी प्रत्याशी अपने-अपने कार्यकर्ताओं को खुश रखने के लिए तरह-तरह का इंतजाम करना शुरू कर दिये हैं। चुनाव के दौरान शराब की भारी खपत को देखते हुए नकली अंग्रेजी व

READ MORE

एनडीएस ब्यूरो लखनऊ। एक तरफ  लखनऊ विकास प्राधिकरण का खजाना खाली होता जा रहा है और दूसरी तरफ  करोड़ों के ऐसे टेंडर किए जा रहे हैं, जिनकी जरूरत ही नहीं है। खास बात है कि जितना बजट नहीं है उससे ज्यादा काम कराने की कोशिश की

READ MORE

शिशु पाल सिंह लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की दलित और मुस्लिम समाज की सोशल इंजीनियरिंग और मुस्लिमों की एकता से घबराई राष्टï्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने अब मुस्लिम समाज में खाई पैदा करने के लिए बड़े ही सुनियोजित ढंग से भेदभाव पैदा करने बांटने का

READ MORE

राजेन्द्र के. गौतम लखनऊ। यूपी के किसानों के लिए कृषि विभाग अपने लापरवाही और भ्रष्टïाचार की कार्यशैली के कारण निर्दयी साबित हुआ है। कृषि विभाग और शासन के आला अफसरों की कमाऊ-खाऊ नीतियों की वजह से जहां राष्टï्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत दलहन फसलों को

READ MORE

श्रवण शुक्ला लखनऊ। मायावती सरकार द्वारा वर्ष 2008 में आईबीएन 7 चैनल पर जहरीली सीडी चलाने के मामले में हुई जांच में आरोपी पत्रकारों पर देशद्रोह और षड्ïयंत्र के तहत मुकदमा चलाने की अनुमति अखिलेश यादव सरकार ने दे दी है। पत्रकारों ने इस मामले को

READ MORE

पहले और वर्तमान पत्रकारिता में जमीन आसमान का अंतर है। समाचार पत्रों में खबरों की समानता नहीं होती थी, लेकिन आज के अखबारों पर नजर डालें तो सभी एक ही तरह की खबरें जनता को परोस रहे हैं। पहले के पत्रकार दावत और प्रलोभन से

READ MORE