20 April, 2018

लखनऊ। जहां केन्द्र की मोदी सरकार छोटे और मझौले समाचार पत्रों के अस्तित्व को समाप्त करने में जुटी है वहीं अखिलेश सरकार तमाम गतिरोधों के बावजूद पत्रकारों के हितों के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। देश के किसी भी राज्य में दिवंगत पत्रकारों के परिजनों

READ MORE

लखनऊ। 23 मई को लोकप्रिय हिन्दी समाचार पत्र दैनिक भाष्कर के उदयपुर के संस्करण में महान सम्राट अशोक को लेकर एक खबर प्रकाशित हुई है। जिसमें आरएसएस के एक संगठन राजस्थान वनवासी कल्याण परिषद के माउथपीस बप्पा रावल के मई 2016 के अंक में सम्राट

READ MORE

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजनीति में बसपा के कद्दावर नेता स्वामी प्रसाद मौर्य और सपा में कौमी एकता दल के विलय के बड़े घटनाक्रम से जहां बसपा सुप्रीमो मायावती डैमेज कंट्रोल में लगी हुई हैं वहीं सपा के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी

READ MORE

पहले पत्रकारों में धन कमाने की हवस नहीं थी, आज प्रबल हो गयी है। इसका असर आर्दश पत्रकारिता पर भी पड़ा। आदर्श पत्रकारिता की धज्जियां उड़ गयीं। आज पत्रकारिता में ग्लैमर भी सामाजिक परिवर्तन के साथ कब घर कर गया कि पता ही नहीं चला।

READ MORE

हमीरपुर के सीडीओ के पत्र से हुआ खुलासा लखनऊ। बूंद-बूंद पानी के तरस रहे बुंदेलखण्ड के किसानों के खेतों तक सिंचाई की मुकम्मल व्यवस्था के लिए निर्माण किए जा रहे चेकडैमों और नलकूपों की बोरिंग में जमकर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। हमीरपुर के जिला विकास

READ MORE

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग अद्र्घन्यायिक संस्था होने के बावजूद उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन के मुखिया से कई बार मात खा चुका है। सत्ता का संरक्षण मिल जाए तो कुछ आईएएस अफसर खुद को नियम-कानून से ऊपर समझने लगते हैं। सरकार के ताकतवर अफसरों

READ MORE

लखनऊ। आगामी विधान सभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के साम, दाम, और भेद के हथकंडों से निपटने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती आगामी 19 जून को बसपा कार्यालय में आयोजित एक बैठक में पार्टी के नेताओं और पदाधिकारियों को

READ MORE

लखनऊ। यूपी के मुख्य सचिव की कुर्सी के लिए दो दावेदार प्रवीर कुमार और दीपक सिंघल की ताजपोशी के लिए नौकरशाही और नेता दो गुट में बंट गए हैं। इन दोनों अफसरों के समर्थक अपने-अपने तरीके से पैरवी में जुटे हैं। नौकरशाही में चर्चा है

READ MORE

प्रभुनाथ शुक्ल सुधर्मा पर संकट है। वह अस्तित्व की जंग लड़ रहा है। सुधर्मा कोई पीडि़त युवती नहीं है और न ही कोई व्यक्ति या धरती का भू-भाग या समुदाय है। सुधर्मा भाषायी पत्रकारिता का जीवंत और जागरुक आइना है। वह स्वयं के धर्म संकट से

READ MORE

लखनऊ। यूपी में कानून का राज खत्म हो गया है। लॉ एंड आर्डर मेंटेन करने की उम्मीद पर पुलिस खरी नहीं उतर रही। पुलिस की घोर संवेदनहीनता, लापरवाही व संलिप्तता के साथ ही दबंग, माफिया, अपराधी व बाहुबलियों को सत्ता संरक्षण है। परिणाम यह है

READ MORE
POST TAGS: