14 December, 2018

हाल ही में टीबी (तपेदिक) पर हुई संयुक्त राष्ट्र संघ की उच्च स्तरीय बैठक में यह सर्व-सम्मति से माना गया कि टीबी (तथा दवा प्रतिरोधक टीबी), जो रोगाणुरोधी प्रतिरोध (एंटी-माइक्रोबियल रेजिस्टेंस या एएमआर) का सबसे सामान्य और विकराल उदाहरण है, विश्व की सबसे अधिक जानलेवा

READ MORE

विश्व स्वास्थ्य संगठन की 2014 में महानिदेशक डॉ मार्गरेट चैन ने वैश्विक तम्बाकू नियंत्रण संधि बैठक में सरकारों से कहा था कि "लोमड़ी को मुर्गों की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी न दें"। डॉ चैन ने यह बात इस आशय से कही थी कि तम्बाकू उद्योग

READ MORE

[caption id="attachment_45524" align="alignleft" width="243"] लेखक : वरिष्ठ पत्रकार और स्तंभकार ऋतुपर्ण दवे rituparndave@gmail.com[/caption] पहली तस्वीर,  दुनिया में बाढ़ से होने वाली मौतों में 20 फीसदी भारत में होती है। विश्व बैंक ने भी इसे   कबूलते हुए चिन्ता बढ़ा दी है। इससे 2050 तक भारत की आधी

READ MORE

[caption id="attachment_45477" align="alignleft" width="284"] लेखक : डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल दलित चिंतक एवं अध्यक्ष अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम मो. 9450504094  [/caption] दलित एक्ट की चर्चा एक बार फिर जोरों पर है। सवाल ये है कि आजादी के 72 साल बाद भी हम इस एक्ट

READ MORE

डॉ. भीमराव अम्बेडकर एक ऐसे युगपुरुष और क्रान्तिदूत हैं जो अपने व्यक्तित्व और कर्तृत्व के बल पर इंसान से भगवान जैसे बन गये हैं। वे आधुनिक भारत के प्रमुख शिल्पियोें मेें से एक हैं। डॉ0 अम्बेडकर एक मौलिक चिंतक, समीक्षक और सिद्धान्तकार थे। वे विश्वविख्यात

READ MORE

[caption id="attachment_41672" align="alignleft" width="256"] एच.एल.दुसाध लेखक बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं संपर्क- 9654816191[/caption] कुछ दिन पूर्व आंबेडकरवादियों के भारी विरोध के बावजूद बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर के नाम में ‘राम जी’ जोड़ कर आंबेडकर प्रेम का जबरदस्त मुजाहिरा करने वाली भाजपा दलितों के

READ MORE

[caption id="attachment_40046" align="alignleft" width="117"] लेखिका सुषमा मलिक [/caption] डयूटी पर तैनात थे, गहरा सन्नाटा था छाया। हो जाये कुछ बात , फ़ौजी के मन मे आया।। क्या बात है भाई, आज तो तू बड़ा उदास है।। चेहरे पर हसीं नही, कुछ तो बात ये खास है।। धीमे से मुस्काया फौजी,

READ MORE

लिंगानुपात में असंतुलन की गंभीर समस्या [caption id="attachment_39978" align="alignleft" width="150"] लेखक वरिष्ठ पत्रकार योगेश कुमार गोयल [/caption] भारतीय समाज में बेटा-बेटी में फर्क करने की मानसिकता में बदलाव लाने और लड़कियों की दशा और दिशा सुधारने के लिए पिछले कुछ वर्षों से सरकारी स्तर पर ‘बेटी

READ MORE

[caption id="attachment_39978" align="alignleft" width="150"] (लेखक वरिष्ठ पत्रकार योगेश कुमार गोयल हैं)[/caption] सेना प्रमुख बिपिन रावत द्वारा हाल ही में एक सेमिनार में पूर्वोत्तर राज्यों खासकर असम में बांग्लादेशी घुसपैठ और एक राजनीतिक पार्टी के कुछ ही वर्षों में बड़ी तेजी से हुए उभार को लेकर दिए

READ MORE

अतुल मालिकराम इन दिनों कंपनियों के बीच आपसी होड़ बढ़ी है। अपने हर प्रोडक्ट को बेहतरीन बताने की मार्केटिंग बनाई जा रही है। अपने हर प्रोडक्ट के लिए विज्ञापन तो दिया नहीं जा सकता, इसलिए रणनीति के तौर पर पब्लिक रिलेशन कंपनियों (पीआर) का महत्व बढ रहा है। उद्योग

READ MORE