11 December, 2018

राजधानी बनी चंबल घाटी, डकैतों का कहर जारी

मलिहाबाद में दो गांवों को बनाया निशाना, एक की गोली मारकर की हत्या

एम.एम.सरोज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी बनी चंबल घाटी अगर यह शब्द कहा जाये तो बुरा नहीं होगा। राजधानी पुलिस को पूरी तरह लकवा मार गया है अब तो डकैत जब चाहा जहां चाहा वहीं कोहराम मचा रहे हैं। डकैत राजधानी पर पूरी तरह हाबी हो गये हैं और लखनऊ पुलिस जो अपराधियों को मुंहतोड़ जबाब देने में माहिर कहलाती थी आज वही डकैतों के सामने नतमस्तक हो गई है। अब राजधानी की सुरमा पुलिस कहा गई जो अभी हाल ही में इनकांउटर करके वाह वाही लूट रहे थे अब कोई भी सुरमा पुलिस सामने नहीं आ रही है कि डकैतों का सामना करें और मुंह तोड़ जबाब दें, वहीं खूंखार डकैत लगातार राजधानी को निशाना बना रहे हैं, और लखनऊ पुलिस बेबस नजर होती आ रही है। अभी चार दिन पहले चिनहट में और दो दिन पहले काकोरी में डकैतों ने दो गांव में कहर बरपाया था जिसमें ग्राम प्रधान के बेटे अभिषेक उर्फ कोमल की गोली मारकर हत्या कर दी थी और डकैतों ने करीब एक दर्जन गांव वालों को गम्भीर रूप ये घायल कर दिया था। पुलिस करीब दो घंटे बाद गांव में पहुॅंची थी तब तक डकैत गांव में तांडव मचाते रहे वहीं दूसरे गांव में डकैत गोली चला रहे थे और हमारी हाईटेक पुलिस उनका सामना करने की बजाये कह रही थी कि क्या मैं डकैतों के सामने जाकर गोली खा लूं । इसी कमजोरी का फायदा उठाकर डकैतों ने आज रात को फिर एक बार लखनऊ पुलिस को चुनौती दी है कि अगर पकड़ सकते हो तो पकड़ कर दिखाओ।

मामला राजधानी के मलिहाबाद थाने इलाके का है जहां असलहो से लैश खूंखार डकैतों ने एक बार फिर हमला बोला दिया और जमकर तांडव मचाया जिसमें एक युवक को यहां भी डकैतों ने गोली मारकर हत्या कर दी, और कई लोग गम्भीर रूप से घायल हो गये जहां लोगों को ट्रामा में भर्ती कराया गया जिसमें एक ही हालत नाजुक बनी हुई है। मलिहाबाद थाने के मुंशीगंज गांव और सरावां गांव में मंगलवार की रात करीब तीन बजे एक बार फिर खुखार डकैतों ने डाका डाला जिसमें दलित परिवार के परमेश्वर रावत के बेटे श्यामू रावत उर्म करीब चालीस को डकैतो ने गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं छात्रपाल को भी गोली लग गई जिससे वह गम्भीर रूप से घायल हो गया जहां लोगों ने उसे ट्रामा में भर्ती कराया है। वहीं डकैती की सूचना मिलते ही पुलिस महकमा एक बार फिर चौक गया और आनन-फानन में एडीजी जोन अभय कुमार प्रसाद, आईजोन जय नारायण सिंह और एसएसपी दीपक कुमार मौके पर पहुॅचे और कई थानो की फोर्स भी पहुॅची, घटना स्थल की छानबीन की वहीं पीडि़तो ने रो-रोकर पुलिस अधिकारियों से अपनी व्यथा बताई।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.