16 October, 2018

गलत तरीके से बहाल किए गए संविदा ड्राइवरों : कंडक्टरों की नौकरी जाने का खतरा

driver

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) में गलत तरीके से बहाल किए गये संविदा ड्राइवरों- कंडक्टरों की नौकरी जाने का खतरा बढ़ गया है। लखनऊ सहित प्रदेश में बहाल किए गए संविदा कर्मियों की संख्या हजारों में हैं।

 

रोडवेज के मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) एचएस गाबा ने बताया कि आर्बीट्रेशन समिति ने संविदा कर्मियों के खिलाफ गलत रिपोर्ट होने के बावजूद उनकी बहाली कर दी। इस बात की शिकायत मुख्यालय पर लगातार आने के बाद आर्बीट्रेशन समिति के निर्णय की अब समीक्षा की जा रही है। इसलिए गलत तरीके से बहाल किए गए संविदा ड्राइवरों-कंडक्टरों की नौकरी भी जा सकती है। उन्होंने बताया कि बीते एक वर्ष में आर्बीट्रेशन समिति की ओर से बहाल किए गए संविदा ड्राइवर-कंडक्टरों की ही जांच होगी। 

 

प्रधान प्रबंधक ने बताया कि क्षेत्रीय प्रबंधक के निर्देश पर आर्बीट्रेशन समिति की ओर से लिए गए निर्णय की रिपोर्ट आगामी सात नवम्बर तक निगम मुख्यालय भेजना है। उन्होंने कहा कि शिकायत मिली है कि संविदा कर्मियों की बहाली के लिए गठित आर्बीट्रेशन समिति गलत निर्णय ले रही है। ऐसे कई मामले परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी. गुरूप्रसाद के सामने आए हैं, जिसमें क्षेत्रीय प्रबंधक की ओर से बर्खास्त संविदा कर्मियों की बहाली आर्बीट्रेशन समिति ने कर दी है।

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.