पहले चरण का चुनाव प्रचार थमा

0
1
  • इनकी प्रतिष्ठा दांव पर
  • 91 सीटों पर चुनाव के लिए उतरे 557 निर्दलीय प्रत्याशी भी

नई दिल्ली। एसएनबीलोकसभा के पहले चरण की बिसात पूरी तरह से बिछ चुकी है। पहले चरण के लिए 20 राज्यों के 91 सीटों के लिए 1279 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 557 प्रत्याशी निर्दलीय भी हैं। 11 अप्रैल को होने वाले पहले चरण के चुनाव के लिए तेलंगाना की सभी 17 लोकसभा सीटों के लिए सर्वाधिक 443 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, जिनमें 298 प्रत्याशी निर्दलीय हैं। यहां अकेले निजामाबाद सीट पर 185 प्रत्याशी हैं, जिनमें से 179 प्रत्याशी निर्दलीय हैं। निर्दलीय प्रत्याशियों की इतनी अधिक संख्या स्थानीय लोगों के गुस्से कारण है। चुनाव आयोग ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में चुनाव तय कार्यक्रम के अनुसार 11 व 18 अप्रैल को ही होंगे।लोकसभा के सात चरणों के चुनाव में पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली गयी है। 17वीं लोकसभा के लिए नवसृजित तेलंगाना राज्य में पहली बार चुनाव हो रहा है। यहां की 17 लोकसभा सीटों के लिए 443 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 298 प्रत्याशी निर्दलीय हैं।

तेलंगाना में दो करोड़ 95 लाख 30838 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। यहां पहली बार 18-19 वर्ष के पांच लाख 99 हजार 933 युवा मतदाता वोट डांलेंगे। आंध्र प्रदेश की सभी 25 सीटों के पहले चरण में मतदान है। यहां 25 सीटों के लिए 319 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। असम में 14 में से पांच सीटों के लिए पहले चरण में मतदान हैं। यहां 41 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। महाराष्ट्र में 48 में से सात सीटों के लिए पहले चरण में मतदान होगा। यहां से सात सीटों पर 116 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। ओडिशा में 21 में से चार संसदीय सीटों के लिए 26 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। यूपी की 80 संसदीय सीटों में आठ पर 11 अप्रैल को मतदान होना हैं। इसके लिए 96 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। उत्तराखंड की सभी पांच सीटों के लिए पहले चरण में मतदान है और यहां 17 निर्दलीय प्रत्याशियों सहित 52 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। बिहार में 40 से चार सीटों पर चुनाव के लिए पहले चरण में 44 प्रत्याशी मैदान में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here