19 October, 2018

डरे नहीं फ्रीडम हमारा जन्मसिद्व अधिकार : डीजीपी

  • आईजी नवनीत सिकेरा ने दो छात्राओं को 1090 की शक्ति परी चुना

एम.एम.सरोज

लखनऊ। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक डीजीपी सुलखान सिंह ने छात्राओं व अभिभावकों को नसीहत देते हुए कहा कि छेड़छाड़, अत्याचार व शोषण के खिलाफ चुप्पी तोड़ो और खुलकर बोलने की आदत डाल लो। आज के दौर में फ्रीडम सावधानी व जिम्मेदारी की मांग करती है। वह बतौर मुख्य अतिथि बुधवार को चेतन्य वेलफेयर फाउंडेशन व राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की ओर से आयोजित हौसलों की उड़ान कार्यक्रम में बोल रहे थे।

डीजीपी ने कहा कि शहरी जीवन में हमें और भी सचेत रहने की जरूरत है। अक्सर देखा गया है कि लोग यहां सिर्फ अपने घर परिवार से मतलब रखते हैं। उनके पड़ोस में किस प्रवृत्ति के लोग रह रहे हैं। उन्हें पता नहीं होता है। डीजीपी सुलखान सिंह ने अभिभावकों को जागरूक करते हुए कहा कि वह अपने बच्चों को अकेले किसी पार्टी में न भेजे। उन्होंने अपील की कि अन्याय होने पर चुप न बैठे खुलकर उसका विरोध करे। कार्यक्रम में मौजूद 1090 के आईजी नवनीत सिकेरा ने 1090 पर बनी एक वीडियो क्लिप दिखा कर छात्राओं को 1090 और यूपी 100 के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में 22 छत्राओं को 1090 की शक्ति परी चुना गया और उन्हें डीजीपी ने आई कार्ड देकर उनका मनोबल बढ़ाया। वहीं अपनी बेबाकी से सवाल करने वाली छात्रा निधि सोनकर और इंद्राक्षी शुक्ला को नवनीत सिकेरा ने 1090 की ओर से दो हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में कॉलेज की प्रधानाचार्या कुसुम वर्मा, माध्यमिक शिक्षा निदेशक अवध नरेश शर्मा, संयुक्त शिक्षा निदेशक सुरेंद्र तिवारी, उप शिक्षा निदेशक विकास श्रीवास्तव, जिला विद्यालय निरीक्षक मुकेश कुमार सिंह प्रमुख रूप से मौजूद थे।

डीजीपी दिखे दोस्ताना अंदाज में

प्रदेश के पुलिस मुखिया डीजीपी सुलखान सिंह बुधवार को स्कूल की छात्राओं के साथ ऐसे मिले जैसे उनका कोई पुराना दोस्त मिल गया हो छात्राओं ने डीजीपी से फोटो खिंचवाने को कहा तो वह हसते हुए सरल स्वभाव से जमीन पर ही बैठ गए छात्राओं ने डीजीपी सुलखान सिंह के साथ फोटो खिंचवाई और ऑटोग्राफ भी लिया।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.