21 October, 2018

जाने…लालजी टंडन के बाद मायावती ने किसे बांधी राखी

Mayawati, Rakhi , Lalji Tandon, Abhay Chautala

लखनऊ। 25 सितंबर को हरियाणा के जाटलैंड गोहाना में मनाए जाने वाले ताऊ देवीलाल के राज्य स्तरीय जयंती समारोह में बसपा प्रमुख मायावती भी शामिल होंगी। विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय चौटाला बुधवार को मायावती को समारोह का निमंत्रण देने दिल्ली गए थे, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। मायावती ने दिल्ली स्थित अपने निवास पर अभय चौटाला को राखी बांधी और तिलक लगाकर चौटाला का सम्मान किया। बदले में चौटाला ने उन्हें राखी का शगुन भी दिया।

हरियाणा में इनेलो व बसपा के बीच इसी साल अप्रैल में गठबंधन हुआ था। गठबंधन के दिन ही अभय चौटाला ने मायावती को अपनी बहन बताते हुए उन्हें प्रधानमंत्री बनाने के अपने संकल्प की मीडिया को जानकारी दी थी। इस गठबंधन पर भाजपा व कांग्रेस नेताओं ने कई बार सवाल उठाए और दावा किया कि चुनाव से पहले ही इसमें दरार पड़ जाएगी। ऐसे में अभय चौटाला ने जनता के बीच स्पष्ट संदेश और कांग्रेस व भाजपा नेताओं को जवाब देने के लिए गोहाना रैली में मायावती को बुलाने का जो दांव खेला है, उससे विरोधी दलों के दावे हवा होते नजर आ रहे हैं। इनेलो व बसपा के गठबंधन के बाद 25 सितंबर को यह पहला मौका होगा, जब अभय चौटाला व मायावती दोनों एक मंच से पार्टी कार्यकर्ताओं को राजनीतिक संदेश देंगे।

मालूम हो कि यूपी में बसपा और भाजपा के सियासी गठबंधन के वक्त वरिष्ठ नेता लालजी टंडन को राखी बांध कर भाई बनाया था। गठबंधन टूट जाने के बाद मायावती ने लालजी टंडन को लालची टंडन बताया था। हरियाणा में इनेलो व बसपा के बीच इसी साल अप्रैल में गठबंधन हुआ था। गठबंधन के दिन ही अभय चौटाला ने मायावती को अपनी बहन बताते हुए उन्हें प्रधानमंत्री बनाने के अपने संकल्प की मीडिया को जानकारी दी थी।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.