21 May, 2018

माया ने साधा मोहन भागवत पर निशाना

Bsp, Mayawati, Rss, Mohan Bhagwat, Army
  • मोहन भागवत का बयान सेना का मनोबल गिराने वाला
  • आरएसएस के स्वयं सेवकों की तुलना सेना के जवानों से करना गलत
  • सामाजिक नहीं, राजनीतिक संगठन की तरह काम कर रहा आरएसएस

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के सेना सम्बन्धी बयान की कड़ी आलोचना की है। मायावती ने संघ प्रमुख के बयान को सेना के जवानों का मनोबल गिराने वाला बताया है।  बसपा प्रमुख मायावती ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि बिहार में गत दिवस राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत अपने सम्बोधन के दौरान आरएसएस के स्वयं सेवकों को सेना से बेहतर बताया था।

सुश्री मायावती ने कहा कि संघ प्रमुख को भारतीय सेना के प्रति दिये बयान के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत-पाक सीमा पर मुश्तैद सेना के जवानों के सामने विभिन्न प्रकार की चुनौतियां होती हैं। ऐसे में स्वयं सेवकों की तुलना सेना के जवानों से करना उनका मनोबल गिराने वाला है। उन्होंने कटाक्ष किया कि श्री भागवत अपने संगठन के स्वयं सेवकों पर इतना भरोसा करते हैं तो अपनी सुरक्षा में कमाण्डो क्यों ले रखे हैं। स्वयंसेवकों से ही अपनी रक्षा क्यों नहीं करवाते।

बसपा प्रमुख ने कहा कि मोहन भागवत को आरएसएस के स्वयं सेवकों के बारे में यह भ्रम अब दूर कर लेना चाहिए कि वह निस्वार्थ काम कर रहे हैं। आरएसएस अब सामाजिक संगठन नहीं, राजनीतिक संगठन की तरह काम कर रहा है। आरएसएस के स्वयं सेवक सामाजिक सेवा को ताक पर रखकर बीजेपी की चुनावी राजनीति करने में ही व्यस्त नजर आते है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT