26 September, 2018

बेरहम पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

Merciless, husband, death, lcuknow crime

एम.एम.सरोज
लखनऊ। राजधानी में गुरूवार को उस समय हडक़ प मच गया जब एक बेरहम पति ने अपनी पत्नी को मौत की नींद सुला दिया जिस पति ने शादी के समय सात फेरे लेकर जन्म जन्मांतर तक साथ निभाने का वादा किया था आज वहीं पति अपनी अर्धागनी की हत्या कर दी और दो मासूम बच्चो को अपनी मां से जिंदगी भर के लिए दूर कर दिया। मामला सरोजनीनगर थाना क्षेत्र का है जहां एक जल्लाद पति ने मामूली कहासुनी के बाद भीतर का शैतान इस कदर जागा कि वह खूनी बन गया और अपनी पत्नी का सिर पर धारदार हथियार से वारकर मौत के घाट उतार दिया। वारदात को अंजाम देकर भाग रहा था कि सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से कातिल को घटना में इस्तेमाल आलाकत्ल सहित गिर तार कर लिया।

पुलिस मामले की छानबीन कर शव को पोस्टमार्टम के लिए ोज दिया है। सरोजनीनगर के नटकुर गांव निवासी कमल किशोर अपनी 32 वर्षीय पत्नी पूनम के साथ रहता है। बताया गया कि गुरूवार की सुबह कमल किशोर और पूनम के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हुई और देखते ही देखते बात इतनी बढ़ गई कि बेरहम कमल किशोर ने पत्नी पूनम पर धारादार हथियार से वारकर मौत की नींद सुलाकर सनसनी फैला दी। इंस्पेक्टर सरोजनीनगर डी.के. शाही ने बताया कि हत्या की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे तो पता चला कि हत्यारोपित पति वारदात को अंजाम देकर भागने की फिराक में है।

गांव वालो की मददसे घेरेबंदी कर कमल किशोर को गिर तार कर लिया गया। इंस्पेक्टर का कहना है कि पूछताछ में हत्यारोपित ने बताया कि पत्नी का किसी से संबध था,जिसे लेकर कई बार समझाया, लेकिन वह मान नहीं रही थी। पुलिस के मुताबिक हत्यारोपित शराब पीने का आदी है और पड़ताल में सामने आया कि नशे की हालत में होकर आए दिन पत्नी से झगड़ा करता रहता था। बताया जा रहा है कि पूनम ने शराब पीने से मना किया करती थी, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं था। वहीं कमल किशोर की हैवानियत ने जहां पत्नी की हत्या कर दी वहीं दो मासूम बच्चीयों को भी मां के साये से जिंदगी भर दूर कर दिया है। इंस्पेक्टर डीके शाही के मुताबिक हत्यारोपित कमल किशोर को गिर तार कर मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।

अपने ही ले रहे अपनों की जान
अपराध की दुनिया में कदम रखने वाले कई खूंखार पेशवर नाम अब लोगों को नहीं डराते। कई पुलिस मुठभेढ़ में मारे गए तो कईयो ने अपना ट्रैक बदल लिया। कई जमीन के कारोबार में उतर आए तो कुछ ने सफेदपोशों का दामन थाम लिया। कुछ सलाखों के पीछे हैं। बदलते परिवेश में लोग खूंखार अपराधियों से अधिक अपनों से खौफजदा हैं। जमीन की लालच और रिश्ते पर शक की बुनियाद में अंजाम की परवाह किए बगैर अपने ही अपनों का खून बहा रहे हैं। सरोजनीनगर के नटकुर गांव निवासी 32 वर्षीय पूनम की हुई हत्या अपराध के इसी समीकरण की एक कड़ी है। राजधानी में ऐसी कई पूनम अपनों के हाथों ही जान गवां चुकी हैं।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT