25 June, 2018

निजीकरण के गुप्त एजेण्डे से आरक्षण को ख़त्म कर रहे हैं मोदी : मायावती

Yogi government, Ek Saal, Buri Mishal, Bjp, Bsp, Mayawati

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्राइवेट कम्पनियों को कोयला खदानों में उत्पादन व इस्तेमाल की अनुमति देने का फैसला धन्नासेठों का तुष्टीकरण करने की एक और नीति है। मायावती ने आज अपने बयान में कहा कि कुछ मुठ्ठीभर बड़े-बड़े पूंजीपतियों व धन्नासेठों के हित में एक के बाद एक लगातार काम किये जा रहे हैं लेकिन देश के सवा सौ करोड़ मेहनतकश लोगों से किये गये अच्छे दिन के वायदे आदि क्यों नहीं पूरे किये जा रहे हैं, जबकि इनमें ही देश का असली हित निहित है।

उन्होंने कहा कि बड़े-बड़े पूंजीपति व धन्नासेठ अपने निजी स्वार्थ व लाभ के लिए देशहित से घिनौना खिलवाड़ करते हुये सरकारी बैंको का अरबों-खरबों रुपयों का ग़बन कर रहे हैं और सरकार की संलिप्तता के कारण वे देश से फरार होने में भी सफल हो रहे हैं। कोयला जैसी महत्त्वपूर्ण राष्ट्रीय सम्पत्ति का भी दोहन करने के लिये इसका निजीकरण करना एक बड़ी चिन्ता की बात हैं।

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सरकार हर बड़े व महत्त्वपूर्ण क्षेत्र का निजीकरण करके एक ऐसे गुप्त एजेण्डे पर काम कर रही है जिससे दलितों व पिछड़े वर्गें के लिये रोजगार में आरक्षण की संवैधानिक व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित तो हो ही रही है, इससे देश का भी अहित हो रहा है। उन्होंने कहा कि इसका खामियाजा पूरे देश को काफी लम्बे समय तक भुगतना पड़ेगा, क्योंकि पूरा देश खुली आंखों से देख रहा है कि निजी क्षेत्र की कम्पनियां देश को लूटने में लगी हुई हैं और भाजपा सरकार अपना कान, आंख सब कुछ बन्द किये हुये हैं। उन्होंने कहा कि देश लुट रहा है और सेवादार व चौकीदार सब सत्ता के नशे में धुत नज़र आ रहे हैं।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT