20 June, 2018

मोदी स्वीडन, ब्रिटेन, जर्मनी की यात्रा पर रवाना

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वीडन, ब्रिटेन और जर्मनी की पांच दिन की यात्रा पर आज रवाना हो गये जहां वह द्विपक्षीय बैठकों के अलावा भारत नॉर्डिक शिखर सम्मेलन और राष्ट्रमंडल शासनाध्यक्षों की बैठक (चोगम) में भाग लेंगे तथा लंदन के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर से विश्व को संबोधित करेंगे।

 

पालम स्थित वायुसैनिक हवाईअड्डे से एयर इंडिया के विशेष विमान से श्री मोदी ने शाम करीब पांच बजे अपनी यात्रा के पहले चरण में स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम के लिए उड़ान भरी। वह कल रात लंदन पहुंचेंगे और 20 तारीख को बर्लिन में संक्षिप्त प्रवास के बाद स्वदेश श्री मोदी ब्रिटेन की यात्रा के दौरान बुधवार को लंदन के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर से विश्व को संबोधित करेंगे जहां से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ,तिब्बती अाध्यात्मिक गुरु दलाई लामा और महान अमेरिकी नेता मार्टिन लूथर किंग जूनियर भी इस हॉल से भाषण दे चुके हैं। यूरोप इंडिया फोरम के अनुसार ‘भारत की बात ,सबके साथ’ कार्यक्रम बुधवार को आयोजित किया जायेगा जिसमें श्री मोदी विश्व को संबोधित करेंगे।

 

वह 17 से 20 अप्रैल तक स्वीडन और ब्रिटेन की यात्रा पर रहेंगे। इस दौरान वह द्विपक्षीय बैठकों के अलावा भारत तथा नॉर्डिक देशों (नार्वे, फिनलैंड, आईलैंड, डेनमार्क) के शिखर सम्मेलन और राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की बैठक को संबोधित करेंगे। जबकि ब्रिटेन से स्वदेश लौटते हुए जर्मनी की राजधानी बर्लिन भी रुकेंगे जहां उनकी जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल से भेंट करेंगे।

 

श्री मोदी ने यात्रा से पहले कल यहां जारी वक्तव्य में कहा कि वह स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टेफान लोफवेन के निमंत्रण पर 17 अप्रैल को स्टाकहोम में रहेंगे। स्वीडन की यह उनकी पहली यात्रा होगी। भारत और स्वीडन के बीच गहरे दोस्ताना सम्बन्ध हैं जो लोकतांत्रिक मूल्यों और मुक्त, समावेशी एवं नियमों वाली वैश्विक व्यवस्था पर आधारित है। श्री मोदी ने कहा, “ मैं और श्री लोफवेन दोनों देशों की व्यवसाय जगत की प्रमुख हस्तियों से बातचीत करेंगे। इस बातचीत में व्यापार एवं निवेश, नवोन्मेष, कौशल विकास, स्मार्ट सिटी, स्वच्छ ऊर्जा तथा स्वास्थ्य एवं डिजिटलाइजेशन पर परस्पर सहयोग की कार्ययोजना तैयार की जाएगी। मैं स्वीडन के राजा कार्ल सोलह गुस्ताफ से मुलाकात करूंगा।”

 

उन्होंने कहा कि 17 तारीख को उनकी स्वीडन के राजा कार्ल सोलहवें गुस्ताफ से भेंट होगी और प्रधानमंत्री श्री लोफवेन के साथ द्विपक्षीय बैठक होगी। वह स्वीडन के चुनींदा कारोबारियों और भारतीय समुदाय के लोगों से मिलेंगे।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT