22 February, 2018

तीन लाख करोड़ से ज्यादा यूपी में होगा निवेश !

three lakh crores investment, Uttar Pradesh, Investor Summit, Yogi Adityanath
  • सरकारी संस्थान भी करेंगे करोड़ों के निवेश
  • सूचना प्रोद्योगिकी 21,877
  • कृषि खाद्य प्रसंस्करण 2,625
  • नेडा 5,000
  • यूपीएसआईडीसी 27,000
  • ग्रेटर नोएडा 12,650
  • नोएडा 7,600
  • नागरिक उड्ड्यन 1,000
  • पशुपालन 400
  • बॉयोफ्यूल 2,000
  • सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम 4,600
  • सिंचाई 500
  • विज्ञान प्रोद्योगिकी 1,000

लखनऊ। यूपी इन्वेस्टर्स समिट में करीब तीन लाख करोड़ रपए के निवेश होंगे। दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद व बंगलुरु जैसे बड़े शहरों के बड़े उद्योगपति समेत उत्तर प्रदेश के सरकारी संस्थाओं की ओर से निवेश के लिए प्रस्ताव तैयार किए गए हैं। रोड शो में शामिल उद्योगपतियों ने प्रदेश में निवेश के लिए उत्सकुता दिखायी है। राजधानी में 21 व 22 फरवरी को समिट का आयोजन होना है। आयोजन को भव्य व ऐतिहासिक बनाने के लिए सभी विभाग समन्वय के साथ अपनी योजनाओं पर काम कर रहे हैं। समिट को लेकर पूरे शहर को स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस की तर्ज पर सजाया जाएगा। फूलों की सजावट के लिए एलडीए व नगर निगम को जिम्मेदारी दी गई है। सौंदर्यीकरण के कार्य कराए जा रहे हैं।

बड़ी औद्योगिक कंपनियां करेंगी निवेश 

मारूति, लावा, डैकिन, इन्टेक्स जैसे 25 कंपनियों की ओर से करीब 27,000 करोड़ के निवेश की मंशा व्यक्त की गई है। इनके अलावा विप्रो, बायोकॉन, एएमडी, भारत इलेक्ट्रानिक्स, ओला, ग्रीन वैल्यू, जैसी 30 बड़ी कपंनियों की ओर से करीब 6,000 करोड़ रपए, जेवीके, फिनिक्स, अपोलो समेत करीब 18 कंपनियों की ओर से 11,500 करोड़ रपए तथा टाटा ग्रुप, रिलायंस इंडस्ट्री, एसेल ग्रुप, एलएंडटी जैसी 25 बड़े औद्योगिक घरानों ने 1.25 लाख करोड़ रपए का निवेश करने की इच्छा जतायी है। इनके अलावा टैक्सटाइल्स, फिशरीज सेक्टर्स सहित बड़े कॉरपोरेट हाउस भी समिट में शामिल होंगे।

350 सीसीटीवी कैमरों से लैस होगी राजधानी 

सुरक्षा व्यवस्था के लिए पूरा शहर सीसीटीवी कैमरों से लैस होगा। इसके लिए सरकारी जमीन पर लगाए गए रिलायंस जियो के टावरों पर फ्री में कैमरे लगाए जाएंगे। जानकारी के अनुसार राजधानी समेत 9 जिलों में लगे टावरों में कैमरे लगेंगे। लखनऊ में कुल 200 टावर जियो को लगाने हैं जिनमें से 94 टावर लगाए जा चुके हैं और 106 लगाने हैं। 94 टावरों पर 350 सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम किया जा रहा है। 38 होटलों में ठहरने की गई व्यवस्था : ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के समय अतिथियों के ठहरने की व्यवस्था कर ली गई है। करीब 1100 लोगों के लिए 38 होटल चिन्हित किए गए हैं। यहां ठहरने के लिए करीब 1200 कमरों को आरक्षित करा लिया गया है। हालांकि इनकी संख्या अभी और बढ़ेगी। आने जाने के लिए बसों के साथ ही ओला व उबर की टैक्सी सर्विस का भी सहारा लिया जाएगा। होटलों में ठहरने के लिए लिस्ट पोर्टल पर डाल दी गई है। जानकारी के अनुसार आरक्षण कराने के बाद कमरे खाली रह जाने पर होटल मालिकों को सरकार कोई भी भुगतान नहीं करेगी।

पुराने शहर से चंद्रिका देवी व नैमिष धाम तक भ्रमण 

समिट के दौरान आने वाले अतिथियों को शहर का भ्रमण भी कराया जाएगा। इसके लिए कैसरबाग के मुख्य सीन, लखनऊ का भ्रमण, ग्रेटर अवध भ्रमण, तथा नैमिषारण्य व चंद्रिका देवी जैसे धार्मिक स्थलों के दर्शन आदि के लिए भी व्यवस्था की गई है। इन स्थलों को समिट के पोर्टल से लिंक कर दिया गया है। 

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT