दंतेवाड़ा में नक्सली हमला

0
1
  • भाजपा विधायक की मौत, पीएसओ समेत 5 जवान शहीद
  • किश्तवाड़ में संघ नेता की गोली मारकर हत्या
  • विधायक भीमा मंडावी बचेली में सभा के बाद वापस जा रहे थे
  • रास्ते में नक्सलियों ने किया बारूदी सुरंग विस्फोट

जम्मू। जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ स्थित स्वास्य केन्द्र में एक आतंकवादी ने मंगलवार को गोलीबारी कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक नेता और उनके निजी सुरक्षा अधिकारी की हत्या कर दी। प्रशासन ने क्षेत्र की संवेदनशीलता को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सेना को बुला लिया।अधिकारियों ने बताया कि यह घटना दोपहर साढ़े बारह बजे तब हुई जब एक आतंकवादी जिला अस्पताल में घुस गया और उसने आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा (52) पर गोलीबारी करनी शुरू कर दी। शर्मा और उनके पीएसओ राजिंदर किश्तवाड़ के स्वास्य केन्द्र आए हुए थे। किश्तवाड़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शक्ति पाठक ने कहा, ‘‘आतंकवादी उनकी आवाजाही पर नजर बनाए हुए था और उसने गोलीबारी की जिसमें पीएसओ की मौत हो गई और नेता घायल हो गए थे।’ अधिकारी ने कहा कि शर्मा को इलाज के लिए विमान से जम्मू लाया गया लेकिन उनकी अस्पताल में मौत हो गई। वह आरएसएस के ‘‘प्रांत सहसेवक प्रमुख’ थे। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू क्षेत्र के किश्तवाड़ और भद्रवाह में इलाकों में कर्फ्यू लगाकर इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

दंतेवाड़ा/रायपुर। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों द्वारा किए गए बारूदी सुरंग विस्फोट से भाजपा विधायक भीमा मंडावी एवं पीएसओ समेत पांच जवान शहीद हो गए।पुलिस सूत्रों ने बताया कि दंतेवाड़ा के विधायक भीमा मंडावी बस्तर संसदीय सीट पर प्रचार के अंतिम दिन बचेली में सभा लेने के बाद शाम लगभग चार बजे नकुलनार वापस जा रहे थे कि रास्ते में कुंआकोडा से चार किलोमीटर दूर नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट कर उनके वाहन को उड़ा दिया। यह विस्फोट इतना भयंकर था कि विधायक के वाहन के परखच्चे उड़ गए। सूत्रों ने बताया कि इस विस्फोट में विधायक मंडावी एवं पांच सुरक्षा कर्मी मारे गए। सभी के शव क्षत विक्षत होकर दूर जाकर पड़े मिले। नक्सलियों ने विस्फोट के बाद फायरिंग भी की और इसके बाद जंगलों की ओर भाग गए। जिस स्थान पर विस्फोट हुआ, वहां कई फुट गहरा गड्ढा बन गया। घटनास्थल पर पुलिस एवं प्रशासन के आला अधिकारी अतिरिक्त पुलिस बल को लेकर पहुंच गए हैं और इलाके में सर्चिग शुरू की गई है। यह इलाका बस्तर संसदीय क्षेत्र में आता है, जहां पर मंगलवार शाम को ही प्रचार समाप्त हुआ है। यहां पर लोकसभा चुनावों के पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here