22 January, 2019

नंबर मुक्केबाज बनीं मैरीकॉम

नई दिल्ली। ‘‘मैग्नीफिशेंट मैरी’ के नाम से मशहूर भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम पिछले साल छठे विश्व चैंपियनशिप खिताब की बदौलत अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) की विश्व रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर पहुंच गई हैं। मणिपुर की इस मुक्केबाज ने पिछले साल नवम्बर में दिल्ली में हुई विश्व चैंपियनशिप में इतिहास रचते हुए 48 किग्रावर्ग का खिताब अपनी झोली में डाला था, जिससे वह टूर्नामेंट की सबसे सफल मुक्केबाज बन गई।

एआईबीए की अपडेट हुई रैंकिंग में मैरीकॉम ने अपने वजन वर्ग में 1700 अंक लेकर शीर्ष पर काबिज हैं। मैरीकॉम को 2020 ओलंपिक का सपना पूरा करने के लिए 51 किग्रामें खेलना होगा क्योंकि 48 किग्राको अभी तक खेलों के वजन वर्ग में शामिल नहीं किया गया है। तीन बच्चों की इस 36 साल की मुक्केबाज ने 2018 में शानदार प्रदर्शन किया था, उन्होंने विश्व चैंपियनशिप के अलावा कॉमनवेल्थ गेम्स और पोलैंड में एक टूर्नामेंट में पहला स्थान हासिल किया था। उन्होंने बुल्गारिया में प्रतिष्ठित स्ट्रैंड्जा मेमोरियल में रजत पदक प्राप्त किया था। अन्य भारतीयों में ¨पकी जांगड़ा 51 किग्रासूची में आठवें स्थान पर काबिज है। एशियाई रजत पदकधारी मनीषा मौन भी 54 किग्रावर्ग में इसी स्थान पर हैं। विश्व चैंपियनशिप में रजत पदकधारी सोनिया लाठेर 57 किग्रामें दूसरे स्थान पर हैं। विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदकधारी सिमरनजीत कौर (64 किग्रा) हाल में राष्ट्रीय चैंपियन बनीं, वह अपने वर्ग में चौथे स्थान पर हैं जबकि पूर्व विश्व चैंपियन एल सरिता देवी 16वें स्थान पर है। इंडिया ओपन की स्वर्ण पदकधारी और विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन 69 किग्रावर्ग में पांचवें स्थान पर हैं।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT