19 April, 2018

एक शाम शहीदों के नाम….एक शाम शहीदों के नाम

One evening the name of the martyrs , one evening the names of martyrs, lalitpur, divyasandesh
  • स्वाधीनता दिवस पर देशभक्ति गीत सुनकर झूम उठे श्रोता
  • कौमी एकता सेवा समिति ने किये सांस्कृतिक आयोजन
  • पूरे शहर में आयोजन रहा चर्चा का विषय, हुई सर्वत्र सराहना

ललितपुर। स्वाधीनता दिवस की गौरवमयी 71 वीं वर्षगांठ पर जहां एक ओर पूरा जनपद अपने-अपने रंग में रमते हुये जश्न-ए-आजादी को मना रहा था तो वहीं कौमी एकता सेवा समिति ने आजादी के इस जश्न में चार-चांद लगाने का भरशक प्रयास किया। समिति द्वारा घण्टाघर पर आयोजित किये गये साँस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में देशभक्ति से ओत-प्रोत गीतों कोमधुर आवाज में सुनते हुये लोग वीररस से परिपूर्ण हो गये और मंत्र मुग्ध होकर भारत माता के जयघोषों की गूँज से पूरा वातावरण देशभक्ति से झूम उठा।

कौमी एकता सेवा समिति के तत्वाधान में घण्टाघर के पास नगर पालिका परिसर में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आजादी के सैनिकों के बलिदान की याद में एक शाम शहीदों के नाम का आयोजन किया गया। इसमें आर्केस्ट्रा पार्टी के माध्यम से लोगों को देशभक्ति से ओतप्रोत गीतों को सुनाया गया। इस दौरान कलाकारों ने देशभक्ति गीतों की गँूज से लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया। शहर में समिति द्वारा कराये गये इस प्रकार के ऐतिहासिक कार्य की सर्वत्र सराहना की गयी। इस दौरान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व समाजसेवियों को मंच से सम्मानित भी किया गया। इस मौके पर समिति संरक्षक लक्ष्मी नारायण विश्वकर्मा आचार्यजी ने कहा कि आज के इस समय में हर कोई चाहता है कि उसका बेटा डाक्टर, इंजीनियर या किसी प्राईवेट कम्पनी के बड़े पद पर आसीन हो, लेकिन कोई यह नहीं चाहता कि उसका बेटा बड़ा होकर देश की आन-वान-शान पर कुर्बान होने के लिए देश का सच्चा सिपाही बने। उन्होंने कहा कि यदि शहीद-ए-आजम पं.चन्द्रशेखर आजाद, राजगुरू व सुखदेव जैसे क्रान्तिवीरों ने बलिदान न दिया होता तो आज हमारा देश गुलामी की जंजीरों में ही जकड़ा होता।

समिति संरक्षक वीनू चौहान ने कहा कि हमें गर्व है कि हम सभी स्वतंत्र भारत के निवासी हैं। उन्होंने कहा कि सरहद पर जवान हमारे देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर रहा है, जिससे कि हम सुरक्षित रह सकें, लेकिन वहीं कुछ दुश्मन हमारे देश में ही रहकर गद्दारी कर रहे हैं। ऐसे लोगों को चिह्नित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से सीमा पर पड़ौसी मुल्क लगातार सीज फायर का उल्लंघन कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर से एक और देश जंग की फफकियां दे रहा है, उससे हमें जंग के लिए तैयार रहना होगा। पूरा देश एकजुट होकर ऐसी बुराईयों को खत्म करने में सक्षम होंगे। समिति अध्यक्ष परवेज पठान ने कहा कि स्वाधीनता दिवस की इस शाम पर हम सभी उन शहीदों को याद कर रहे हैं, जो देश की सरहद पर हमारे देश की सुरक्षा करते हुये अपने प्राणों का बलिदान देकर अमर हो गये। इस दौरान मुख्य अतिथि एसडीएम सदर महेश प्रसाद दीक्षित ने भी संबोधित किया। इस दौरान अध्यक्ष परवेज पठान, अनिल दीक्षित, नैपाल सिंह यादव, समेत अनेकों लोग मौजूद रहे। संचालन समिति संरक्षक वीनू चौहान ने किया।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT