18 February, 2019

राहुल, ममता को CBI से किस बात का डर

  • ममता सरकार ने लोगों को असहाय बना दिया
  • पीएम ने कहा, ‘‘मां, माटी, मानुष’ के नाम पर सत्ता हासिल की और ¨हसा की संस्कृति को अपना लिया
  • मोदी ने जनसभा में कांग्रेस अध्यक्ष, प. बंगाल की सीएम और छत्तीसगढ़ सरकार को लिया निशाने पर

चूड़ाभंडार (प. बंगाल)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को ममता बनर्जी सरकार पर तीखा हमला करते हुए दावा किया कि उसने पश्चिम बंगाल की धरती को बदनाम किया है और लोगों को असहाय बना दिया। उत्तरी बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में यहां भाजपा की एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि राज्य को ‘‘दीदी’ की जगह ‘‘उगाही सिंडिकेट’ चला रहा है। ममता को प्यार से लोग ‘‘दीदी’ कहते हैं। मोदी ने तृणमूल कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वाम दलों को अपदस्थ करने के बाद ‘‘मां, माटी, मानुष’ के नाम पर बंगाल में सत्ता हासिल करने वालों ने ¨हसा की संस्कृति को अपना लिया है। उन्होंने बंगाल की धरती को बदनाम किया और लोगों को असहाय बना दिया है। शारदा चिटफंड घोटाला मामले में सीबीआई द्वारा कोलकाता पुलिस आयुक्त से पूछताछ करने के प्रयास के खिलाफ धरने पर बैठने के लिए बनर्जी पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है जब मुख्यमंत्री ने उन धोखेबाजों को बचाने के लिए धरना दिया जिन्होंने लाखों गरीबों को लूट लिया। उन्होंने कहा, यह चौकीदार न तो चिटफंड घोटालों के दोषियों को छोड़ेगा और न ही उन्हें बचाने वालों को।कलकत्ता उच्च न्यायालय की सर्किट बेंच का किया उद्घाटन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कलकत्ता उच्च न्यायालय की बहुप्रतीक्षित ‘‘सर्किट बेंच’ का उद्घाटन किया और कहा कि इससे उत्तरी बंगाल के लोगों को शीघ्र न्याय पाने में मदद मिलेगी। ‘‘सर्किट बेंच’ की पट्टिका का उद्घाटन करने के लिए बटन दबाते हुए मोदी ने कहा, सर्किट बेंच के उद्घाटन के साथ उत्तरी बंगाल की जनता की लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी हो गई क्योंकि अब उन्हें मुकदमे के लिए कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा। उत्तरी बंगाल में दार्जिलिंग, कलिमपोंग, जलपाईगुड़ी और कूच बिहार के लोगों को शीघ्र न्याय दिलाएगी। इन चार जिलों के लोगों को अब 600 की जगह 100 किलोमीटर से भी कम दूरी की यात्रा करनी होगी।

विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार छत्तीसगढ़ आ कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आक्रामक अंदाज में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रत्यक्ष निशाने पर ले लिया और कहा कि उनको सीबीआई से किस बात का डर है। क्यों वे वीसीबीआई को आने नहीं देंगे। रायगढ़ में एक आमसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि विधानसभा में जनता ने जो आदेश दिया, वह सिरमाथे पर है लेकिन छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की नई सरकार ने आते ही जनिवरोधी फैसले किए हैं। सच्चाई यह है कि पहले जो बेहतर किया जा रहा था उसको भी ठप करने में लगे हुए हैं। आयुष्मान योजना बंद करके और सीबीआई को कार्रवाई की इजाजत रद्द करना किस बात के डर की तरफ इशारा करता है। जिनको पीढ़ियों से मलाई खाने की लत लगी हो, वह चौकीदार की ऐसी ऐसी चाकचौबंद योजना को लागू कैसे रख सकते हैं। वह तो ऐसी योजना लाएंगे जिसमें तुम भी खाओ मैं भी खाऊं,इसकी पूरी पूरी व्यवस्था हो। मोदी ने छत्तीसगढ़ के कांग्रेस सरकार के फैसले को भी निशाने पर लिया और अपने चुटीले अंदाज में कहा कि सरकार ने सीबीआई जांच में अड़ंगा लगाने का काम किया है। मोदी ने लोगों से हामी भराई कि अगर कुछ किया नहीं है तो डरेगा क्या, डरेगा क्या? मोदी ने कहा कि पुत्र के लक्षण पालने में नजर आते हैं। वह जो इरादे दिखा रहे हैं, इससे उनकी सोच का पता चलता है। कांग्रेस का रोम-रोम बिचौलियों के एहसान तले दबा हुआ है। आज देश का गरीब मोदी के साथ खड़ा हो गया है। 55 साल के कारोबार में गरीबी की सिर्फ माला जपी उन्होंने और अब यह बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं कि गरीबों का काम मोदी ईमानदारी से कर रहा है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT