15 December, 2018

राज्यसभा चुनाव हुआ रोचक, दस सीट पर तेरह उम्मीदवार

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की रिक्त दस सीटों पर भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के 11 उम्मीदवारों के नामांकन से चुनाव काफी रोचक हो गया।
नामांकन के अंतिम क्षणों में भाजपा के तीन उम्मीदवार विद्यासागर सोनकर, सलिल विश्नोई और अनिल अग्रवाल के पर्चा दाखिल कर देने की वजह से चुनाव काफी रोचक होने के साथ ही मतदान के आसार बढ़ गये। हालांकि, भाजपा सूत्रों का कहना है कि 11 में से उसके दो उम्मीदवारों का नाम वापस लिया जा सकता है। भाजपा के तीन उम्मीदवारों के अचानक नामांकन कर देने से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर की दुश्वारियां फिलहाल बढ़ती नजर आ रही हैं।
सूबे से राज्यसभा में दस उम्मीदवारों को जाना है लेकिन भाजपा के विद्यासागर सोनकर, सलिल विश्नोई और अनिल अग्रवाल के पर्चा दाखिल कर देने से चुनाव काफी रोचक हो गया है। श्री सोनकर जौनपुर के रहने वाले हैं जबकि श्री विश्नोई कानपुर के निवासी हैं। श्री अग्रवाल गाजियाबाद के हैं। श्री साेनकर लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं। श्री विश्नोई विधायक थे।
इससे पहले, नामाकंन के अंतिम दिन केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली समेत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के आठ उम्मीदवारों ने पर्चे भरे। विधानभवन के सेंट्रल हाल में श्री जेटली के अलावा अशोक वाजपेयी,सकलदीप राजभर,कांता कर्दम, विजय पाल सिंह तोमर,डा अनिल जैन,जीवीएल नरसिंहाराव और हरनाथ सिंह यादव ने नामाकंन दाखिल किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य,दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष डा़ महेन्द्र पाण्डेय समेत भाजपा के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे। श्री जेटली ने 11 बजकर 40 मिनट पर जबकि अन्य सात उम्मीदवारों ने करीब डेढ बजे नामांकन पत्र दाखिल किये थे।

विधानसभा के प्रमुख सचिव और चुनाव अधिकारी प्रदीप दुबे ने बताया कि भाजपा के 11 उम्मीदवारों के साथ ही समाजवादी पार्टी(सपा) से जया बच्चन और बहुजन समाज पार्टी(बसपा) से भीमराव अम्बेडकर पहले ही नामांकन पत्र दाखिल कर चुके हैं।
उधर,नरेश अग्रवाल के भाजपा में शामिल होने से राज्यसभा चुनाव में सत्तारुढ़ पार्टी को फायदा मिल सकता है क्योंकि श्री अग्रवाल के बेटे नितिन अग्रवाल भी विधायक हैं। नितिन के साथ ही कुछ और विधायक नरेश अग्रवाल के सम्पर्क में बताये जाते हैं।
नामांकन पत्रों की जांच कल होगी। पन्द्रह मार्च तक नामांकन वापस लिये जा सकेंगे। पर्चे सही पाये जाने या किसी के नाम वापस नहीं लेने पर 23 मार्च को मतदान तय है। भाजपा गठबंधन के पास 325 मतदाता है। केन्द्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली समेत भाजपा के आठ उम्मीदवारों की जीत तय है। एक उम्मीदवार की जीत के लिये 37 मतदाताओं की जरुरत है।
इस तरह भाजपा के आठ उम्मीदवारों की जीत के बाद भी उसके गठबंधन के पास 29 मतदाता शेष बचेंगे। माना जा रहा है कि श्री अग्रवाल को निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में इन्ही शेष बचे मतदाताओं के भरोसे चुनाव में उतारा गया है। इस चुनाव में विधानसभा के सदस्य मतदाता होते हैं। मतपत्रों को दिखाकर वोट डालना होता है। मतपत्रों को दिखाकर वोट डालने का नियम बसपा उम्मीदवार को फायदा पहुंचा सकता है। राज्यसभा में संख्या बल के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण इस चुनाव में भाजपा को दस में से आठ सीटें मिलना तय है जबकि समाजवादी पार्टी (सपा) को एक सीट मिलनी पक्की है। शेष एक सीट पर सपा और कांग्रेस के समर्थन के बाद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) उम्मीदवार बी आर अंबेडकर की जीत की संभावना है।
पार्टी आलाकमान ने श्री जेटली के उम्मीदवार के तौर पर नाम की घोषणा एक सप्ताह पहले ही कर दी थी जबकि सात सीटों के लिये कल शाम दिल्ली में पार्टी उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की गयी। सपा छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले अशोक वाजपेयी को पार्टी ने राज्यसभा का टिकट देकर नवाजा है हालांकि राज्यसभा में मौजूदा सांसद विनय कटियार का टिकट काट दिया गया है।
श्री वाजपेयी ने विधान परिषद में सपा की सदस्यता छोड़कर भाजपा का दामन थामा था जबकि कांता कर्दम जाटव हाल ही मे मेरठ से मेयर पद का चुनाव हार गयी थी। बलिया के सकलदीप राजभर और मेरठ के विजय पाल सिंह तोमर को पार्टी की सेवा का ईनाम राज्यसभा के उम्मीदवारी के तौर पर मिला है।
इसके अलावा टिकट पाने वालों में मैनपुरी से विधान परिषद के पूर्व सदस्य हरनाथ सिंह यादव को उम्मीदवार बनाया गया। वरिष्ठ पार्टी नेता डा0 अनिल जैन और भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिंहाराव ने भी राज्यसभा के लिये अपने पर्चे दाखिल किये।
श्री जेटली कल शाम नामांकन के लिये लखनऊ आ गये थे जबकि अन्य उम्मीदवार नामांकन के लिये कल रात तक लखनऊ पहुंचे थे। इससे पहले सपा उम्मीदवार जया बच्चन ने शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल किया था जबकि पहले से नामांकन दाखिल कर चुके बसपा उम्मीदवार बी आर अंबेडकर ने कांग्रेस और सपा के समर्थन के बाद आज अपने नामाकंन पत्र का दूसरा सेट प्रस्तुत किया।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.