14 December, 2018

आरक्षण समर्थकों ने मोदी सरकार के खिलाफ बोला हल्ला

Reservation supporters, protest, Modi government, lucknow, Awadesh verma
  • आरक्षण समर्थकों के पैदल मार्च ने लिखा इतिहास लगभग 50 हजार की संख्या में आरक्षण समर्थकों ने केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ बोला हल्ला। 
  • डा0 भीमराव अम्बेडकर स्मारक, गोमती नगर सेप्रातः 6ः30 बजे से शुरू होकर 8ः30 बजे तक लगभग 4 किलोमीटर का विरोध पैदल मार्च/परिक्रमा निकली। 
  • आरक्षण समर्थकों की मांग पदोन्नति में आरक्षण बिल लोकसभा से पारित कर संविधान की 9वीं सूची में डाला जाये और राज्यों के लिये बनाया जाये बाध्यकारी। 
  • नवम्बर माह में लखनऊ में आरक्षण समर्थकों की लाखों की होगी रैली चरण बद्ध तरीके से आन्दोलन घोषित। 
 लखनऊ।  आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के तत्वाधान में पदोन्नति में आरक्षण संवैधानिक संशोधन 117वां लम्बित बिल को पास कराकर संविधान की 9वीं सूची में डालकर राज्यों के लिये बाध्यकारी बनाने व  सुप्रीम कोर्ट द्वारा पारित आदेश को लागू कराने, उत्तर प्रदेश में रिवर्ट 2 लाख दलित कार्मिकों को उनके पदों पर पुर्नस्थापित कराने सहित पिछड़े वर्ग के कार्मिकों को पदोन्नति में आरक्षण दिलाने/एस0सी0एस0टी0 एक्ट पर हो रहे कुठाराघात को रोकने को लेकर आज सुबह 6ः30 बजे आरक्षण समर्थकों द्वारा डा0 भीमराव अम्बेडकर स्मारक, गोमती नगर मेन गेट से आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में एक विशाल विरोध पैदल मार्च/परिक्रमा निकाली गयी, जो मेन गेट से होते हुए भागीदारी भवन से ताज होते हुए समता मूलक चैराहे से पुनः उसी स्थान पर लगभग 4 किलोमीटर मार्च के बाद समाप्त हुई।
संघर्ष समिति के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा द्वारा लगभग 50 हजार आरक्षण समर्थकों के बीच आगे के आन्दोलन का ऐलान कर दिया और सरकार से तुरन्त अपनी मांगों को पूरा करने की गुहार लगायी। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में आरक्षण समर्थक अपने हाथों में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति का झण्डा व पंचशील का झण्डा लेकर सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की। आरक्षण समर्थकों द्वारा परिक्रमा के दौरान अपने दर्जनों महापुरूषों की मूर्तियों पर पुष्प बरसा कर उन्हें नमन किया।
1- 15 अक्टूबर से प्रदेश के सभी आरक्षित सीट के सांसदों के क्षेत्रों में ‘‘दलित सांसद चुप्पी तोड़ो, अपने समाज से नाता जोड़ो‘‘ ‘‘दलित समाज की बात नही ंतो 2019 में वोट नहीं‘‘ का चलेगा व्यापक अभियान।
2- नवम्बर माह के अन्त में लखनऊ में विशाल महारैली जिसमें पूरे देश के आरक्षण समर्थकों का लगेगा जमावड़ा और 2019 के लिये आर-पार की लड़ाई का ऐलान।
3- दिसम्बर माह से प्रदेश के सभी जिलों में जिला सम्मेलन के माध्यम से जागरूकता अभियान।
4- एस0सी0एस0टी0 एक्ट का विरोध करने वाले नेताओं को वोट नहीं देने का चलेगा व्यापक अभियान।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के संयोजकों सर्वश्री अवधेश कुमार वर्मा, के0बी0 राम, डा0 राम शब्द जैसवारा, आर0पी0 केन, अनिल कुमार, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, एस0पी0 सिंह, रीना रजक, राज करन, लेखराम, पी0एम0 प्रभाकर, दिग्विजय सिंह, प्रेमचन्द्र, दिनेश कुमार, अजय चैधरी, मया राम वर्मा, राजेश कुमार, ब्रहद्रथ वर्मा, जितेन्द्र कुमार, श्रीनिवास राव, राजेश पासवान, रामेन्द्र कुमार, योगेन्द्र, सुशील कुमार, राजेश कुमार सरोज, अरविन्द फरसोवाल, सुधा गौतम, मंजू वर्मा, अंजली, पी0पी0 सिंह, संजय भार्गव, अनिल सागर, राजेश रावत, सुनील कनौजिया ने कहा कि जब तक दलित कार्मिकों के साथ केन्द्र की मोदी सरकार व उ0प्र0 की सरकार दलित कार्मिकों के साथ न्याय नहीं करती तब तक यह आन्दोलन जारी रहेगा। आने वाले समय में लाखों की संख्या में दलित कार्मिक उ0प्र0 की सरकार को पदोन्ति में आरक्षण की व्यवस्था बहाल करने के लिये बाध्य कर देंगे।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.