25 June, 2018

एसटीएफ ने तीन शातिर चोरों को किया गिरफ्तार

दस लाख तिरपन हजार समेत असलहे बरामद

एम.एम.सरोज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की एसटीएफ टीम को रविवार को दस लाख तिरपन हजार रूपये व असलहो के साथ तीन शातिर चोरो को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। यूपी एसटीएफ एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि 5 दिसम्बर 2017 को थाना तालकटोरा लखनऊ में सै. मुबीन अहमद ने अज्ञात चोरो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। जहां स्थानीय पुलिस घटना पर काम कर रहीं थी कई माह बीत जाने के बाद भी जब घटना का खुलाशा नहीं हो सका तो शासन द्वारा मामले के खुलासे के लिए एसटीएफ को गलाया गया जहां वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ अभिषेक सिंह ने पी.के. मिश्र, पुलिस उपाधीक्षक को मामले की छानबीन करने को निर्देश किय। पी.के. मिश्रा ने मामले के विवेचक से पूर्व कार्यवाही की जानकारी करते हुए घटना स्थल का निरीक्षण किया और मकान में रहने वाले तथा वहाँ पर काम करने वाले कर्मचारियों से गहन पूछताछ कर कार्यवाही शुरू की।
मामले की छानबीन में ज्ञात हुआ कि पीडि़त विजय शंकर सिंह की सुरक्षा में चल रहे निजी सुरक्षा गार्ड आनन्द कुमार सिंह की भूमिका संदिग्ध है। आनन्द कुमार से गहनता से की गयी पूछताछ पर उसने अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि वह वर्ष 2001 से विजय शंकर सिंह के साथ निजी सुरक्षा में रहता है। विजय शंकर सिंह का दूर का रिश्तेदार भी है। वर्ष 2001 से अब तक विजय शंकर सिंह के साथ रहते हुए उनका विश्वास हासिल कर लिया परन्तु विजय शंकर सिंह आए दिन उसे तथा खाना बनाने वाले अर्जुन कश्यप को गाली गलौज देकर सार्वजनिक रूप से बेइज्जत कर दिया करते थे।
इसी कारण से इन दोनों ने मिल कर विजय शंकर सिंह को सबक सिखाने के लिए चोरी की घटना का षडयन्त्र रचा और इस षडयन्त्र में आनन्द कुमार सिंह ने अपने क्षेत्र के निवासी प्रवीण कुमार सिंह उर्फ लालू उर्फ मार्को को भी शामिल कर लिया। आनन्द कुमार सिंह ने कमरा तथा अल्मारी का ताला तोड़कर चोरी करने के लिए अर्जुन कश्यप को तैयार किया तथा उस चोरी गये समान को वहाँ से हटा कर अपने गाँव भेजने के लिए प्रवीण कुमार सिंह उर्फ लालू उर्फ मार्को को तैयार किया और स्वंय अपने कमरे में मौजूद रहकर घटना की रात दोनों से लगातार सम्पर्क बनाये रखा।
घटना से पूर्व 24 सितम्बर 2017 को पूर्व निश्चित योजना के अनुसार जब आनन्द कुमार सिंह छुट्टी लेकर अपने घर जौनपुर चला गया था तो प्रवीण कुमार सिंह उर्फ लालू उर्फ मार्को जौनपुर से आकर अर्जुन कश्यप की मदद से उस स्थान की रैकी किया जहाँ से उसे चोरी किया गया समान लेकर जाना था। घटना के कुछ दिनों के बाद आनन्द कुमार सिंह छुट्टी लेकर अपने घर गया और प्रवीण कुमार सिंह से ताला बन्द बैग को लेकर खोल कर उस बैग को नष्ट कर दिया तथा उसका सारा समान जेवरात, नगदी व असलहें एक बोरी में लपेट कर अपने भूँसे वाली कोठरी में भूँसे के नीचे दबा दिया। इधर अर्जुन कश्यप ने सोने के दो बिस्किट अलग से चुराकर अपने घर ग्राम काकराबाद में आल्मारी के नीचे गड्डा खोदकर दबा दिया।
इसकी जानकारी होने के पश्चात अर्जुन कश्यप से भी पूछताछ करके इसकी पुष्टि की गयी तत्पश्चात चोरी गयी सम्पत्ती की बरामदगी के लिए निरीक्षक अंजनी कुमार त्रिपाठी के नेतृत्व में एसटीएफ की टीम आनन्द कुमार सहित जनपद जौनपुर उसके गाँव जवन्सीपुर भेजी गयी जहाँ से अभियुक्त ने अपनी निशानदेही पर उपरोक्त बरामदगी करायी इसमें से सोने के दोनों बिस्किट उपनिरीक्षक राघवेन्द्र सिंह के नेतृत्व में गयी टीम ने उसके घर ग्राम काकराबाद से उसकी निशानदेही पर बरामद करने में सफ लता प्राप्त की गयी। गिरफ्तार अभियुक्तों को उपरोक्त अभियोग में थाना तालकटोरा जनपद लखनऊ मे दाखिल किया गया।

grish1985@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT