22 February, 2018

सुरभि सिंह ने किया कथक के जरिए राम की महिमा का बखान

Kathak dancer Surabhi Singh, Santagadge Auditorium, Sangeet Natak Akademi, Lucknow

लखनऊ।शहर की मशहूर कथक नृत्यांगना सुरभि सिंह ने मंगलवार को कथक के जरिये राम की महिमा का बखान किया। मौका था कल्चरल क्वेस्ट संस्था की ओर से लेखक प्रेमनारायण मेहरोत्रा के काव्यग्रंथ ‘राम नाम की मधुशाला’ पर केंद्रित प्रस्तुति का। संगीत नाटक अकादमी के संतगाडगे सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यपाल राम नाईक थे। उन्होंने कार्यक्रम का उद‌्घाटन प्रेमनारायण मेहरोत्रा के काव्यग्रंथ राम नाम की मधुशाला के विमोचन से किया। उन्होंने कहा कि प्रेमनारायण की यह रचना लोगों को सामाजिक संदेश देने में समर्थ है। इतने कम समय में ऐसी रचना लिखना और उस पर नृत्य करना महत्वपूर्ण है।

रचना की मधुर धुनों और सुरभि सिंह के भावपूर्ण नृत्य के बीच कलाकारों ने राम नाम की महिमा को अपनाने का संदेश दिया। उन्होंने अपने नृत्य के जरिये रामकथा के अहिल्या उद्धार, रामसेतु निर्माण, शबरी और केवट के प्रसंगों को मंच पर साकार किया। नृत्य में शिवि, अस्मिता, संगीता, काव्या, वैशाली व सृष्टि ने भाग लिया। प्रस्तुति का नृत्य निर्देशन सुरभि सिंह ने, संगीत निर्देशन सुमन सरकार ने किया।

कार्यक्रम में सुरभि सिंह ने मंच से भातखंडे के सारंगी शिक्षक पंडित विनोद मिश्र को हटाए जाने की शिकायत करते हुए उन्हें बहाल किए जाने की मांग की। सुरभि सिंह ने बताया कि राज्यपाल रामनाईक ने 22 फरवरी के बाद मसले पर बैठक करने को कहा है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT