24 October, 2018

इंडिया-न्यूजीलैंड के वनडे क्रिकेट मैच के लिए एक से नाच रहे है यूपी के खेल मंत्री

uttar pradesh, sports minister chetan chauhan, India, new zealand, cricket, divyasandesh

कानपुर। इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले तीसरे वनडे मैच की मेजबानी का जिम्मा बीसीसीआई ने यूपीसीए को दिया है। लेकिन जिस तरह से प्रदेश के खेल मंत्री चेतन चौहान इस मैच को लेकर सक्रिय नजर आ रहे हैं, उससे ऐसा लग रहा है कि राज्य सरकार और खेल विभाग ही इस मैच की मेजबानी कर रहा है। इस मैच के लिए आईपीएल कमिश्नर और यूपीसीए के डायरेक्टर व अगुवा राजीव शुक्ला अब तक एक बार भी ग्रीन पार्क का जायजा लेने नहीं आएं। वहीं खेल मंत्री ने लगातार ग्रीनपार्क के कई दौरे किए और फोन से मैच की तैयारियों की सुध लेते रहें। उन्होंने अपने दौरों के समय न सिर्फ आला अधिकारियों के साथ बैठक की, बल्कि उन्हें अहम निर्देश भी दिए। बताते चलें कि ग्रीनपार्क स्टेडियम के इतिहास में पहली बार 29 अक्टूबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम डे नाइट का मैच खेलने जा रही है। 

यह पहला मौका है, जब उत्तर प्रदेश का कोई खेल मंत्री मैच की तैयारियों को लेकर इतना एक्टिव नजर आ रहा है। इससे पहले जितने भी खेल मंत्री रहे हैं, उन्होंने तैयारियों से ज्यादा मैचों के पास पर ही ध्यान दिया है। ये बात खुद यूपीसीए के भी अधिकारी मान रहे हैं। नाम न छापने की शर्त पर यूपीसीए के एक टॉप ऑफिशियल ने कहा, ’खेल मंत्री चेतन चौहान खुद भी एक क्रिकेटर रहे हैं और वह जानते हैं कि यूपी के लिए मैच की मेजबानी कितनी अहम है और मैचों के दौरान किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। हालांकि यूपीसीए पहले भी मेजबानी कर चुका है, लेकिन खेल विभाग, राज्य सरकार और जिला प्रशासन कभी इतना मुस्तैद नहीं रहा जितना इस बार है।

सिक्योरिटी को बताया अहम मुद्दा 

मैच की मेजबानी को लेकर खेल मंत्री कितने गंभीर हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वह गुरुवार रात को स्टेडियम का मुआयना करने लखनऊ से कानपुर आ धमके। दो दिन पहले ही उन्होंने आला अधिकारियों के साथ बैठक की थी और दो दिन बाद उन्होंने इसकी समीक्षा की। उन्होंने सिक्योरिटी को अहम मुद्दा बताते हुए मंत्री से लेकर संत्री तक सभी की जांच के निर्देश दिए। यहां तक कि यूपीसीए को भी मैच की तैयारियों पर होने वाले खर्च में कंजूसी न बरतने की नसीहत दे डाली।

राजीव शुक्ला को भी छोड़ दिया पीछे 

आमतौर पर इंटरनेशनल मैच की मेजबानी पर सारा क्रेडिट यूपीसीए के डायरेक्टर और फॉर्मर सेक्रेट्री राजीव शुक्ला ही लूट ले जाते थे। हालांकि इस बार खेल मंत्री ने उन्हें भी पीछे छोड़ दिया। राजीव शुक्ला इस मैच के लिए अब तक सिर्फ एक बार ही ग्रीन पार्क पहुंचे. उनकी जगह यूपीसीए सेक्रेट्री बने युद्धवीर सिंह भी सिर्फ एक बार ही स्टेडियम का मुआयना करने आ सके। इन्होंने सारी जिम्मेदारी एसके अग्रवाल और ललित खन्ना को सौंप रखी है। वहीं खेल मंत्री ने सारी जिम्मेदारी मातहतों की बजाय खुद संभाल रखी है। उम्मीद की जा रही है कि वो मैच तक कानपुर में ही डेरा जमाए रखेंगे। 

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.