15 December, 2018

वैभव हत्याकांड: कोर्ट में आत्मसमर्पण करने पहुंचा हिस्ट्रीशीटर सहयोगी सहित गिरफ्तार

Vaibhav assassination, histry seater, court

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी के बेटे वैभव हत्या मामले में फरार हिस्ट्रीशीटर को साथी के साथ कोर्ट परिसर सें पुलिस ने गिरफ्तार किया। ये दोनों आत्मसमर्पण के लिए मंगलवार को कोर्ट पहुंचे थे, लेकिन उसे पहले पुलिस के बिछाये जाल में फंस गए। हत्याभियुक्तों को गिरफ्तार कर पूछताछ के लिए पुलिस हजरतगंज थाने लायी है। 

 

हजरतगंज इंस्पेक्टर आनन्द कुमार शाही के मुताबिक, सिद्धार्थनगर निवासी भाजपा के पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी का बेटा वैभव परिवार संग हजरतगंज स्थित कसमंडा हाउस अपार्टमेंट के कमरा नंबर 22 में रहता था। बीते शनिवार की रात प्रापर्टी विवाद को लेकर दोस्त सूरज शुक्ला ने हिस्ट्रीशीटर विक्रम सिंह के साथ मिलकर वैभव की गोली मार हत्या कर दी। हत्या के चश्मदीद गवाह वैभव के दोस्त आदित्य ने घटना की जानकारी परिवार को देते हुए पूरे घटनाक्रम की आपबीती बयां की। 

 

सूचना पर पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने हत्याभियुक्तों को गिरफ्तार करने के लिए चार टीमें गठित कर जल्द ही गिरफ्तारी के आदेश दिये। पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी कर हत्यारोपियों की तलाश शुरु कर दी। उनके न पकड़ जाने पर पुलिस ने घरवालों को भी पूछताछ के लिए उठाया। इधर पुलिस के दबाव पड़ने पर हत्याभियुक्तों ने कोर्ट में आत्मसमर्पण की योजना बनायी और मंगलवार को कोर्ट में पहुंचे तभी वह गिरफ्तार कर लिये गये। इंस्पेक्टर ने बताया कि उन्हें पूरा यकीन था कि हत्यारोपी पुलिस से बचने के लिए आत्मसमर्पण करने जरुर कोर्ट आयेंगे, इसके लिए उन्होंने कचहरी में पहले से ही मुखबिर तंत्र सक्रिय कर बिना वर्दी में पुलिस टीम को लगा रखा था। मंगलवार को जैसे ही हत्यारोपी आत्मसमर्पण करने पहुंचे कि पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। पकड़े गए हत्यारों को गिरफ्तार कर घटना के खुलासे के लिए पूछताछ की जा रही है, अभी तक आला ए कत्ल बरामद नहीं हो सका है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.