16 December, 2018

बलात्कार की घटनाओं पर कब क्या बोले मोदी

नई दिल्ली। नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे और 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के तौर पर प्रचार कर रहे थे तो बलात्कार के विरूद्ध खूब बोले थे। उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान एक टीवी न्यूज चैनल पर कहा था, “जब हम किसी पीड़िता की जगह खुद को रखकर या उसके सगे-संबंधी बनकर सोचते हैं तो रुह कांप जाती है। देश की कोई भी लड़की हमारी बेटी की तरह है। हमलोग 21वीं सदी में हैं, बावजूद इसके आए दिन बलात्कार से जुड़ी दिल दहला देने वाली खबरें सुनते हैं”। उन्होंने छत्तीसगढ़ में एक चुनावी सभा में कहा था, “जब भी आप टीवी खोलते हैं तो अक्सर रेप की खबरें दिखाई देती हैं। कांग्रेस की सरकार में कानून-व्यवस्था चरमरा चुकी है”।

 

जम्मू-कश्मीर के कठुआ तथा उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हुई सामूहिक बलात्कार कांड को लेकर राजपथ में आधी रात को कैंडल मार्च , देशभर में विरोध-प्रदर्शनों ,उच्च न्यायालय के कड़े रूख के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंबेडकर जयंती के एक दिन पहले 13 अप्रैल को अंबेडकर फाउंडेशन में आयोजित नेशनल मेमोरियल समारोह में जब इस पर चुप्पी तोड़ी तो कहे , “गुनहगारों को सख्त से सख्त सजा हो, ये हम सबकी जिम्मेदारी है| भारत सरकार इस जिम्मेदारी को पूरा करने में कोई कोताही नहीं होने देगी, ये मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं।” उन्होंने कहा, “पिछले दो दिनों से जो घटनाएं चर्चा में हैं वो किसी भी सभ्य समाज में शोभा नहीं देती हैं| ये शर्मनाक हैं। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में हम सब इसके लिए शर्मसार हैं। देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं, पर मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि कोई अपराधी नहीं बचेगा, न्याय होगा और पूरा होगा। हमारी बेटियों को न्याय मिलकर रहेगा।”इधर 15 अप्रैल को दिल्ली में राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी ने बालात्कार के विरोध में सायं 6 बजे से साढ़े सात बजे तक कैंडल मार्च किया था।

 

उनके नेताओं में से कुछ से जब पूछा कि किसके विरूद्ध मार्च निकाल रहे हैं, तो जवाब मिला दिल्ली की केजरीवाल सरकार के विरूद्ध। किसलिए ? इस सवाल पर उनके जवाब थे, केजरीवाल राज में दिल्ली में बहुत बलात्कार हो रहे हैं। उनके इस जवाब पर यह पूछने पर कि दिल्ली की पुलिस तो केन्द्र सरकार के अधीन है, उपराज्यपाल के अधीन है| लगभग सभी पावर उप राज्यपाल के हाथ में, उनके मार्फत केन्द्र के हाथ में हैं। ऐसे में केजरीवाल क्या करेंगे? इस सवाल पर कैंडल मार्च वाले ये नेता कहने लगे कि दिल्ली राज्य में सरकार तो केजरीवाल की है, …उसकी जिम्मेदारी है। बलात्कार के लिए केजरीवाल की सरकार जिम्मेदार है।

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

Sorry, the comment form is closed at this time.