17 August, 2018

योगी सरकार की किरकिरी कराने वाले अफसर-मंत्री और भाजपा नेताओं के कतरे जायेंगे पर

Yogi government, officers,minister, BJP leaders, Uttar Pradesh, Ias, Pcs, Ips, bureaucrats, uttar pradesh, Yogi Government
  • मुख्यमंत्री योगी ने शाह को सौंपी संभावित मंत्रियों की सूची 
  • डा. महेंद्र पांडेय व सुनील बंसल आज सौंप सकते हैं पदाधिकारियों की सूची

लखनऊ। योगी सरकार और भारतीय जनता पार्टी में सांगठनिक बदलाव की हलचल तेज हो गयी है। भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व ने सरकार व संगठन में बदलाव की सूची मांगी थी। सरकार की तरफ से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सूची सौंप दी, जबकि संगठन की सूची प्रदेश अध्यक्ष डा.महेंद्र पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल मंगलवार को दिल्ली में मिलकर सौंपेंगे।

प्रदेश सरकार और भाजपा में सांगठनिक बदलाव की लम्बे समय से चल रही कवायद को उस समय गति मिल गयी, जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सरकार में संभावित मंत्रियों और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र पांडेय से संगठन के संभावित पदाधिकारियों की सूची पेश करने को कहा। इसके बाद सोमवार को मुख्यमंत्री ने दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष को संभावित मंत्रियों की सूची सौंप दी। इस सूची में किन मंत्रियों का नाम है और कौन बाहर होंगे अभी कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा।

संभावना जतायी जा रही है आधा दर्जन नये मंत्री बनाये जा सकते हैं, जबकि कई हटाये जा सकते हैं। सीएम की तरफ से उन आठ मंत्रियों की सूची भी सौंपी गयी है, जिनके खिलाफ गंभीर शिकायतें हैं। आशंका यह भी है कि कुछ मंत्रियों को मंत्रिमंडल से जहां बाहर किया जायेगा, वहीं कुछ मंत्रियों के विभागों में फेरबदल भी की जा सकती है।इसी तरह डा. महेंद्र पांडेय के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद से ही संगठन में बदलाव की कवायद की जा रही थी, लेकिन गुजरात, हिमाचल में विधानसभा चुनाव और फिर उप चुनाव के कारण यह लगातार टलता जा रहा था। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रदेश अध्यक्ष से संगठन की भी सूची मांगी थी।

जानकारी के अनुसार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री सुनील बंसल एक साथ जाकर मंगलवार को यह सूची सौंप सकते हैं। इसके बाद संगठन में बदलाव किया जाएगा। यहां बताना जरूरी है कि पार्टी के पुराने नेता काफी दिनों से नाराज थे, जिन्हें न तो मंत्रिमंडल में और न ही संगठन में जगह मिल पायी थी। राष्ट्रीय अध्यक्ष भी लगातार आश्वासन दे रहे थे कि उन्हें समायोजित किया जायेगा। अब संगठन में कुछ युवा ऊर्जावान नेताओं को जहां जगह देने की कोशिश की जाएगी, वहीं कुछ ऐसे नेताओं को संगठन से बाहर किये जाने की भी आशंका है जो एक ही पद पर लम्बे समय से तैनात हैं। इसके अलावा मंत्रिमंडल से जिन लोगों को हटाया जायेगा, उनमें से कुछ को संगठन में समायोजित करने का भी प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल पहले मंत्रिमंडल में बदलाव होगा फिर भाजपा के प्रदेश संगठन में। 

rgautamlko@gmail.com

Review overview
NO COMMENTS

POST A COMMENT